न्याय की आस में दर-दर भटकती बलात्कार पीड़िता ने खाया जहर अस्पताल में भर्ती

न्याय की आस में दर-दर भटकती बलात्कार पीड़िता ने खाया जहर अस्पताल में भर्ती

स्वतंत्र प्रभात 
 
लखीमपुर खीरी- थाना क्षेत्र खीरी के गांव पनकी कला निवासी एक पीड़िता द्वारा जहर खाया जाने की चर्चा प्रकाश में आई है पीड़िता के अनुसार दिनांक 24 सितंबर 2021 को समय करीब रात 10:00 बजे विपक्षी दलों द्वारा जबरन बलात्कार किया गया था जिसमें थाना खीरी में मुकदमा अपराध संख्या 16 /2022 धारा 376 डी 506 आईपीसी में दर्ज हुआ था दौरान विवेचना उक्त मामले में अंतिम रिपोर्ट न्यायालय में प्रस्तुत की गई थी न्यायालय द्वारा उक्त प्रकरण में पुनः विवेचना का आदेश पारित किया था तब से पीड़िता लगातार थाना पुलिस व पुलिस अधीक्षक कार्यालय के चक्कर काटते हुए आरोपी गणों अवधेश पुत्र राम बहादुर सौहराब पुत्र सरवर की गिरफ्तारी की मांग करती रही लेकिन पुलिस द्वारा कोरा आश्वासन देकर टरकाया जाता रहा प्रीडीता के अनुसार गत माह पूर्व थाना खीरी पुलिस द्वारा पीडिता की पिटाई भी की गई।
 
पर आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया उल्टा पीड़ित पर पुलिस द्वारा  दबाव बनाया जाता रहा पुलिस अधीक्षक को भी प्रार्थना पत्र दिया न्याय ना मिलते देख पीड़िता ने जहर खा लिया हालत बिगड़ते देख आनन-फानन में पीड़िता को जिला अस्पताल भर्ती कराया गया जहां उसकी हालत ठीक बताई जाती है इस संबंध में थाना अध्यक्ष  ने बताया ऐसी कोई घटना ही घटित नहीं हुई है जबकि पुलिस अधीक्षक कार्यालय द्वारा जारी प्रेस नोट में पीड़िता द्वारा जहर खाने जैसी स्थिति पैदा करने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराए जाने की बात कही गई है।
 
तथा डाक्टरों द्वारा सस्पेक्टेड की बात भी कही गई है फिलहाल पीड़िता की हालत ठीक बताई जा रही है गत माह पूर्व पीड़िता के साथ घटित घटना पर विपक्षी गणों पर पुलिस करती कार्रवाई तो शायद आज यह नौबत ना आती हाल ही में विपक्षी गणो द्वारा  बंदी करके रामापुर चौराहे के पास पीड़िता के साथ की थी।
 
मारपीट इसमें भी पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं किए जाने की बात पीड़िता ने कहते हुए आरोपियों को संरक्षण देने के आरोप लगाए हैं अब देखना है कि थाना खीरी पुलिस क्या एक्शन लेती है फिलहाल मामले का संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक ने सीओ को जांच कर तत्काल रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष