समाजवादी युवजन सभा ने मनायी सावित्रीबाई फुले की जयंती

समाजवादी युवजन सभा ने मनायी सावित्रीबाई फुले की जयंती

स्वतंत्र प्रभात बहराइच। समाजवादी युवजन सभा कार्यालय बहराइच में सावित्री बाई फुले की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम का शुभारंभ सावित्री बाई फुले के चित्र पर पुष्प अर्पित कर की गई। सावित्रीबाई फुले एक दलित परिवार में पैदा हुई थीं, लेकिन तब भी उनका लक्ष्य यही रहता था कि किसी के साथ भेदभाव ना हो और

स्वतंत्र प्रभात
बहराइच। समाजवादी युवजन सभा कार्यालय बहराइच में सावित्री बाई फुले की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम का शुभारंभ सावित्री बाई फुले के चित्र पर पुष्प अर्पित कर की गई। सावित्रीबाई फुले एक दलित परिवार में पैदा हुई थीं, लेकिन तब भी उनका लक्ष्य यही रहता था कि किसी के साथ भेदभाव ना हो और हर किसी को पढ़ने का अवसर मिले।  देश की पहली महिला शिक्षक जिन्होंने अपना जीवन सिर्फ लड़कियों को पढ़ाने और समाज को ऊपर उठाने में लगा दिया। रविवार को सावित्रीबाई फुले की 189वीं जयंती मनायी गयी।
इस अवसर पर समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष मो०अफसाल “शानू” ने उन्हें पुष्प अर्पित किए। शिक्षा, महिला सशक्तिकरण के लिए उन्होंने जो किया उसके लिए जिलाध्यक्ष ने उन्हें नमन करते हुए कहा कि सावित्रीबाई फुले एक दलित परिवार में पैदा हुई थीं, लेकिन तब भी उनका लक्ष्य यही रहता था कि किसी के साथ भेदभाव ना हो और हर किसी को पढ़ने का अवसर मिले। सावित्रीबाई फुले, भारत की पहली महिला शिक्षक, कवियत्री, समाजसेविका जिनका लक्ष्य लड़कियों को शिक्षित करना रहा। इस अवसर पर धनन्जय सिंह,सुधाकर सिंह, गौतम,अनवर अली,सहादत अली,हाफिज खांन,अजय सोनी,व समाजवादी युवजन सभा के सभी पदाधिकारी,कार्यकर्त्ता मौजूद रहे।
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष