पूर्व प्रधानमंत्री की 31 वीं पुण्यतिथि: जानिए कैसे रचा गया हत्याकांड का चक्रव्यूह

पूर्व प्रधानमंत्री की 31 वीं पुण्यतिथि: जानिए कैसे रचा गया हत्याकांड का चक्रव्यूह

पूर्व प्रधानमंत्री की 31 वीं पुण्यतिथि: जानिए कैसे रचा गया हत्याकांड का चक्रव्यूह


स्वतंत्र प्रभात-

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 31 वीं बरसी 

इस प्रार्थना सभा में हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन धर्मों के लोगो सहित कांग्रेसजनों ने राजीव गांधी जी की प्रतिमा पर पुष्पर्पित कर श्रद्धांजलि दी और  सर्वधर्म प्रार्थना की । इस कार्यक्रम में पहुंचे हरियाणा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश गुप्ता ने कहा कि आज आधुनिक युग में राजीव गांधी जी का योगदान अविस्मरणीय है । सुरेश गुप्ता ने कहा कि हमे सभी धर्मों का समान रूप से आदर करना चाहिए । इस मौके पर करनाल से पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी सरदार त्रिलोचन सिंह व इंद्री से पूर्व कंग्रेस प्रत्याशी डॉ० नवजोत कश्यप ने भी सर्व धर्म के प्रति अपने विचार रखे । इस कार्यक्रम को अध्यक्षता कर रहे डॉ० सुनील पंवार ने बताया कि पंचायती राज व्यवस्थाओ को संवैधानिक दर्जा दिलाने की सोच राजीव गाँधी जी की थी और पंचायती राज में महिलाओं को आरक्षण देकर महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की । डॉ० पंवार ने बताया कि राजीव गांधी जी को आई.टी. का जनक माना गया है ।

पूर्व प्रधानमंत्री के हत्याकांड का पूरा प्लान 

पूरा देश आज पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 31 वीं बरसी पर उन्हें श्रद्धांजलि दे रहा है. आज के ही दिन चेन्नई के पास श्रीपेरंबदूर में उनकी आत्मघाती विस्फोट हत्या कर दी गई थी. उस विस्फोट में कुल16 लोगो की जान गई थी. विस्फोट के लिए लिट्टे की एक महिला आतंकी ने अपने शरीर पर बम बांध रखा था. 21 मई 1991 पूरा देश स्तब्ध हो गया... करोड़ों लोग सकते में आ गए... जिसने भी यह सुना उसे यकीन नहीं हो रहा था. देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री की हत्या हो गई. जी हां... 21 मई यानी आज के ही दिन राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी. आज पूरा देश उनकी 31 वीं बरसी पर उन्हें श्रद्धांजलि दे रहा है. पीएम मोदी ने भी राजीव गांधी को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी. सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता ने उनके समाधि स्थल वीर भूमि आकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel