कानपुर को फिर से नहीं मिली मंत्रिमंडल में जगह 

दो सांसद देने वाले कानपुर को लगातार तीन बार से नहीं मिला कोई मंत्री पद।

कानपुर को फिर से नहीं मिली मंत्रिमंडल में जगह 

कानपुर। दो लोकसभा सांसद देने वाले उत्तर प्रदेश के औधोगिक नगर कानपुर को एक बार फिर से केन्द्रीय मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का तीसरा कार्यकाल है जब कि तीनों बार कानपुर ने दोनों लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी को विजई बनाया है।
 
कानपुर उत्तर प्रदेश का बड़ा और देश का प्रमुख औद्योगिक शहर है। यहां पर दो लोकसभा सीट हैं कानपुर और अकबरपुर। लगातार तीन बार से यहां पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी जीत हासिल कर रहे हैं। अकबरपुर से देवेन्द्र सिंह भोले लगातार तीसरी बार सांसद चुने गए हैं। जब कि कानपुर सीट से 2014 में मुरली मनोहर जोशी, 2019 में सत्यदेव पचौरी, और 2024 में रमेश अवस्थी विजयी हुए हैं। लेकिन तीनों बार में एक बार भी कानपुर के हाथ मंत्री पद से खाली रहे हैं।
IMG_20240502_141836
इस बार तो एनडीए की मिली जुली सरकार है लेकिन पिछली दोनों सरकारें भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकारें थीं। इससे पहले कांग्रेस की यूपीए सरकार के समय में श्रीप्रकाश जायसवाल केन्द्रीय कोयला मंत्री रहे थे लेकिन उनके समय में भी कानपुर को कोई ज्यादा लाभ नहीं मिला। शायद भारतीय जनता पार्टी में कानपुर में इस तरह का कोई नेता नहीं बन पाया है जो मंत्री पद पा सके। अब देखना है कि भविष्य की राजनीति में शायद कानपुर को कोई मंत्री पद मिल सके।
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

संसद भवन परिसर से स्वतंत्रता सेनानियों की मूर्तियों को शिफ्ट करने को लेकर भडका विपक्ष संसद भवन परिसर से स्वतंत्रता सेनानियों की मूर्तियों को शिफ्ट करने को लेकर भडका विपक्ष
स्वतंत्र प्रभात। एसडी सेठी। संसद भवन परिसर में लगी स्वतंत्रता सेनानियों की मूर्तियों को शिफ्ट किया जा रहा है। इस...

अंतर्राष्ट्रीय

Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक
International Desk इटली की प्रधानमंत्री जार्जिया मेलोनी के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून को 50वें जी-7 शिखर सम्मेलन...

Online Channel