फांसी के फंदे से लटका मिला एक दिन पहले से लापता युवती का शव

तीन दिन पहले सगाई टूटने से क्षुब्ध थी युवती।

फांसी के फंदे से लटका मिला एक दिन पहले से लापता युवती का शव

युवक सेना में करता है नौकरी, शादी से किया इन्कार 

लालगंज (रायबरेली)।
 
खीरों थाना क्षेत्र के मथुरा खेड़ा गांव में 24 घंटे से लापता युवती का शव गांव से दो किलोमीटर दूर संदिग्ध परिस्थितियों में नीम के पेड़ लटका मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों ने बिटिया की सगाई टूट जाने से उसके आत्महत्या कर लेने का आरोप लगाया है।
 
मथुरा खेड़ा गांव निवासी हरिश्चंद्र परदेश में रह कर नौकरी करते है। परिवार की  रोजी-रोटी चलती है। उनकी पत्नी बीनू व तीन बेटियां चांदनी, कंचन और करिश्मा घर पर रहती हैं। उसकी बड़ी बेटी चांदनी (24) शनिवार की दोपहर एक बजे  बिना बताए घर से कहीं चली गई। काफी खोज बीन की गई लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल सका। युवती के न मिलने पर परिजनों ने खीरों थाने में गुमशुदगी की तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया। रविवार की सुबह घर करीब दो किलोमीटर दूर दुकनहा गांव के निकट उसका शव नीम के पेड़ से दुपट्टे के सहारे फांसी के फंदे से झूलता मिला।
 
परिजनों को सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया। वहीं मृतका के चचेरे भाई अनिकेत ने बताया है कि मृतका चांदनी उर्फ रक्षा की शादी तीन वर्ष से बछरावां थाना क्षेत्र के पोराइहा गांव में अखिलेश  से तय थी। अखिलेश सेना में है। तीन दिन पहले ही युवक ने शादी करने से मना कर दिया। जिससे उसकी बहन छुब्ध रहने लगी। रविवार की सुबह उसका शव फांसी के फंदे से झूलता मिला। खीरों थाना प्रभारी देवेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया है कि शव को कब्जे लेकर पोस्टमार्टम को भेजा गया है।
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष