डीएम साहब का मोबाइल हैक कर नौकरी दिलाने के नाम पर 4.15 लाख की ठगी

डीएम साहब का मोबाइल हैक कर नौकरी दिलाने के नाम पर 4.15 लाख की ठगी

मऊ जनपद के घोसी, कोतवाली अन्तर्गत तिघरा डढिया भोपौरा निवासी एक बेरोजगार युवक से नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। शातिर साइबर जालसाजों ने जिलाधिकारी मऊ और पुलिस महानिरीक्षक के सचिव का सरकारी मोबाइल हैक कर व उससे फोन कर युवक से नौकरी दिलाने के नाम पर 4 लाख पन्द्रह हजार रुपये ठग लिये। 
 
आप को बता दे कि घोसी कोतवाली अन्तर्गत तिघरा डढिया भोपौरा निवासी लाल बहादुर निषाद पुत्र दामोदर निषाद ने कोतवाली में दर्ज कराये गये मुकदमे में बताया वह एक बेरोजगार युवक है और रोजगार के लिये सोशल मीडिया पर सर्च करता रहता है। सोशल मीडिया पर प्राईवेट जाब की जानकारी मिलने पर उसने 24 अक्टूबर 2023 को दिये गये नम्बरों पर फोन किया तो फोन बंद आया। दूसरे दिन 25 अक्टूबर को उन नंबरों से फोन आया और फोन करने वाले ने पूछा की आपने जॉब के लिये सम्पर्क किया था। युवक के हामी भरने पर फोन करने वाले ने अपने को आईजी पुलिस का सेक्रेटरी बताते हुए कहां कि पैसा दे दो तो मैं तुम्हारी सरकारी नौकरी लगवा दूंगा। युवक को उसकी बात पर विश्वास नहीं हुआ और उसने फोन काट दिया। उसी दिन जालसाज ने पुलिस महानिरिक्षक के सरकारी नम्बर से फोन किया और पैसे की मांग की और फाइल चार्ज के नाम पर 15 हजार रुपये खाते में मंगा लिये।
cc
अगले दिन जालसाज ने जिलाधिकारी मऊ के सरकारी नम्बर 9454417523 से फोन कर उसे अपने विश्वास में ले लिया और 4 लाख रुपये और ले लिया। कई दिनों तक जब कोई रिस्पांस नहीं मिला तो ठगी के शिकार उक्त युवक ने डीएम और आईजी पुलिस के सरकारी मोबाइल पर फोन कर जानकारी ली तो पता चला की वहां से कोई फोन नहीं किया गया था। युवक ने जब जाब प्रोफाइल के लिये दिये गये सोशल मीडिया पर उपलब्ध नम्बर पर फोन किया तो जालसाजों ने उसे धमकाते हुए कहा कि हम लोग किसी का भी नम्बर हैक कर सकते हैं वह चाहे मुख्यमंत्री हो या प्रधानमंत्री। पीड़ित के प्रार्थना पत्र को डीएम ने गंभीरता से लेते हुए तत्काल कोतवाली पुलिस को मुकदमा पंजीकृत करने का आदेश दिया

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel