ट्रस्ट की जमीन की कैसे हो गई बिक्री अहम सवाल, सरवराकार  को जमीन की बिक्री करने का अधिकार ही नहीं

राधाकृष्ण मंदिर में दबंग भूमिया आफताब खान और सलीम अंसारी का कब्जा हटवाए जाने की मांग

ट्रस्ट की जमीन की कैसे हो गई बिक्री अहम सवाल, सरवराकार  को जमीन की बिक्री करने का अधिकार ही नहीं

भाजपा सरकार में राधा कृष्ण मंदिर ट्रस्ट का अस्तित्व खतरे में आधिकारी साधे मौन

लखीमपुर खीरी एक तरफ प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ मंदिरों पर आरती पूजा एवं कथा भागवत के आयोजनों को बढ़ावा देने की पुरजोर कोशिश करते हुए प्रदेश में राम राज्य काम करने के बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं। साथ ही साथ दूसरे की जमीनों व सरकारी जमीनों पर कब्जा करने वाले दबंग भू माफियाओं पर कठोर कार्रवाई किए जाने तथा जमीनों से अवैध कब्जा हटवाकर जमीनों को कब्जा मुक्त करने के आदेश अपने मातहतों को दे रहे हैं।
इसके ठीक उल्टा कार्य जनपद खीरी में करते हुए भूमाफिया द्वारा योगी के आदेशों की धज्जियां उड़ाते देखे जा रहे हैं। और तहसील प्रशासन के साथ-साथ जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन मौन साधे बैठा सब कुछ देख रहा है। जिसके परिणाम स्वरुप भू माफियाओं द्वारा ट्रस्टों की जमीनों की खरीद फरोख्त करके ट्रस्ट व उसे पर बने धार्मिक स्थलों का अस्तित्व समाप्त करने का कुत्सित  प्रयास किया जा रहा है। ऐसा ही एक मामला कस्बा खीरी टाउन के मोहल्ला पट्टी रामदास में प्रकाश में आया है।02....., 
जहां पर भूमाफिया गणों आफताब खान व सलीम अंसारी द्वारा राधा कृष्ण मंदिर ट्रस्ट के सर्वराकार रहे मृतक महेश चंद्र माथुर से सांठगांठ करके नियम कानून को ताक पर रखकर राधा कृष्ण मंदिर के नाम दर्ज जमीन की बिक्री अपने पक्ष में करवा कर उस पर प्रशासन की मिली भगत करके कब्जा कर लिया गया। ऐसा आरोप जीतू माथुर पुत्र संजय माथुर निवासी पट्टी रामदास ने लगाया है ।जीतू माथुर ने मुख्यमंत्री पोर्टल उप जिला अधिकारी सदर तहसील एवं जिला अधिकारी खीरी सहित पुलिस अधीक्षक खीरी को कई प्रार्थना पत्र देकर राधा कृष्ण मंदिर की जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करने वाले उक्त दबंग एवं हेकड किस्म लोगों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करते हुए राधा कृष्ण मंदिर की जमीन को कब्जा मुक्त कराए जाने की मांग की। पर आज तक प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। और ना ही कब्जा ही हटवाया गया।
पुलिस अधीक्षक खीरी को 24 जनवरी 2024 को दिए गए लिखित शिकायती प्रार्थना पत्र में जीतू माथुर ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। भू माफियाओं को संरक्षण देने व मंदिर की जमीन पर अवैध कब्जा करवाने के आरोप स्थानीय पुलिस प्रशासन पर लगाए हैं। जीतू माथुर के बताएं अनुसार मृतक महेश चंद्र माथुर ने राधा कृष्ण मंदिर ट्रस्ट की जमीन को भू माफिया आफताब खान और सलीम अंसारी को बेच डाली। जिसकी उसने जनसुनवाई और ऑनलाइन शिकायतें भी की थी।
जिसमें भू माफिया आफताब ने तहसील प्रशासन से मिली भगत करके सुलहनामा होने की फर्जी आख्या लगवा दी ।उसमें जमीन की गाटा संख्या 373, 803 ,804 ,797 ,261 दिखाई गई ।जबकि 373 की गाटा वाली जमीन पर साफ-साफ लिखा हुआ है कि यह जमीन राधा कृष्ण जी सरबराकारी फिर सुलहनामा में साफ-साफ लिखा है कि राधा कृष्ण मंदिर बनाम सुलहनामा दर्जनों प्रार्थना पत्र दिए जाने के बाद भी कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है।
03......
जिसके चलते उक्त विपक्षी गणों व भू माफियाओं ने राधा कृष्ण मंदिर की जमीन पर दीवाल खड़ी करके मंदिर का अस्तित्व समाप्त करने पर आमादा है। शासन प्रशासन को प्रेषित शिकायत में शिकायतकर्ता ने दीवाल तुड़वाकर राधा कृष्ण मंदिर की जमीन वापस ट्रस्ट को दिलवाए जाने की मांग की है ।अब देखना यह है कि प्रशासन उक्त टस्ट की जमीन से अवैध कब्जा हटवाकर राधा कृष्ण मंदिर को आवाद करवाता है। या फिर भूमाफियाओं के हाथों में सौंप देता है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel