इंडो नेपाल : बॉर्डर पर एसएसबी ने दो व्यक्तियों से 4 लाख 41 हज़ार भारतीय करेंसी किया बरामद

मात्र 25 हज़ार लिमिट कैश ही एक दूसरे देश में कैरी करने का आदेश -सूत्र

इंडो नेपाल : बॉर्डर पर एसएसबी ने दो व्यक्तियों से 4 लाख 41 हज़ार भारतीय करेंसी किया बरामद

बगहा । ब्यूरो नसीम खान 'क्या'

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक एसएसबी 21 वीं बटालियन के गंडक बराज बी कंपनी के जवानों ने बृहस्पतिवार को दो अलग अलग व्यक्तियों से अलग अलग समय पर गंडक बराज पर जांच व चेकिंग के दौरान लगभग 4 लाख 41 भारतीय करेंसी बरामद किया है । बृहस्पतिवार की सुबह करीब 6 बजे गंडक बराज के फाटक नम्बर एक पर एसएसबी जवानों ने जांच के क्रम में एक व्यक्ति के पास से लगभग 3 लाख 40 हज़ार इंडियन करेंसी बरामद किया है । वहीं दूसरा व्यक्ति लौरिया निवासी अनूप कुमार के पास से रात्रि 8 बजे नशे की हालत में भारतीय सीमा में नेपाल से प्रवेश करते समय पकड़कर जांचोक्रम में लगभग एक लाख एक हज़ार इंडियन करेंसी बरामद किया है । दोनो ही व्यक्ति से पूछताछ करने पर संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर एसएसबी ने वाल्मीकिनगर पुलिस के हवाले कर दिया है। थानाध्यक्ष विजय राय ने बताया कि व्यक्ति क्रमशः मोतिहारी और लौरिया का रहने वाला है जिसका नाम मोती सहनी और अनूप कुमार के रूप में पहचान हुई है। अब सवाल यह है कि नेपाल और भारत के बीच बेटी रोटी का सम्बंध है । भारतीय नागरिक नेपाल में और नेपाली नागरिक भारत मे व्यवसाय करते है और दोनो देशों के बीच बेटियां ब्याही जाती है । ऐसे में एक दूसरे देश मे प्रवेश करते समय कितने रुपये कैरी किया जा सकता है । भारतीय कस्टम सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नेपाल में 5 सौ और 2 हज़ार के नोटो के चलन को बंद कर रखा है । अगर आपके पास ढेर सारे पैसे हो तो उसे बॉर्डर क्रोस करते समय उस देश का जहां आप जा रहे हैं पूरा ब्यौरा देकर पैसे एक्सचेंज करा लें।ताकि आपको कोई परेशानी नहीं हो । वहीं कोई भी व्यक्ति एक दूसरे देश मे लिमिट 25 हज़ार रुपये कैस तक ही पास में कैरी कर सकता है । बहरहाल वाल्मीकिनगर थानाध्यक्ष विजय कुमार राय ने बताया कि एसएसबी के द्वारा दो मामला आया है जिसपर अग्रतर कार्यवाई की जा रही है ।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष