मा0 प्रधानमंत्री के ‘वोकल फार लोकल’ से कुम्हारों के परम्परागत व्यवसाय को मिली नई ऊर्जा-डीआईओ

मा0 प्रधानमंत्री के ‘वोकल फार लोकल’ से कुम्हारों के परम्परागत व्यवसाय को मिली नई ऊर्जा-डीआईओ

लोगों को स्वरोजगार की दिशा में ग्रामोद्योग व खादी बोर्ड के विभिन्न योजनाओं से जुड़ने की अपील-जिला ग्रामोद्योग अधिकारी

 
भदोही
 
जिला ग्रामोद्योग व खादी कार्यालय द्वारा उ0प्र0 माटी कला बोर्ड के तत्वाधान में 20 लाभार्थियों को मा0 सदस्य हरेन्द्र कुमार प्रजापति व मुख्य विकास अधिकारी यशवंत कुमार सिंह द्वारा प्रमाण पत्र व विद्युत चालित चाक का निःशुल्क वितरण कम्बल कारखाना गोपीगंज में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मा0 सदस्य, मुख्य विकास अधिकारी एवं जिला सूचना अधिकारी डॉ0 पंकज कुमार द्वारा गॉधी जी के चित्र पर सूत का माल्यापर्ण कर किया गया।
 
जिला ग्रामोद्योग अधिकारी अमितेश कुमार सिंह ने बताया कि माटीकला के परम्परागत उपकरणों के साथ कार्य करना कारीगरों के लिए अत्यन्त श्रमसाध्य है। इससे उत्पादकता भी प्रमाणित होता है। आधुनिक तकनीकी का प्रयोग कर माटीकला कारीगरों के आय में वृद्धि करने के उददेश्य से, कारीगरों/शिल्पियों को टूल किट्स वितरित किया जाता है साथ ही लाभार्थियों को विभागीय मण्डलीय प्रशिक्षण केन्द्रो पर माटीकला के नवीन तकनीकी व टूल किट्स संचालन का तीन दिवसीय प्रशिक्षण भी दिया जाता है।
 
प्राप्त आवेदन पत्रों में से 20 लाभार्थियों का चयन जनपद स्तर पर मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया गया था। लाभार्थियों का चयन उनकी आर्थिक स्थिति व माटीकला का अनुभव तकनीकी ज्ञान विपणन योग्यता इत्यादि के आधार पर किया जाता है। जिला खादी ग्रामोद्योग ने मुख्यमंत्री माटीकला रोजगार योजना, माटीकला कौशल विकास योजना, माइक्रो माटीकला, कामन फैसिलिटी सेन्टर योजना, माटीकला पुरस्कार योजना सहित ग्रामोद्योग व खादी बोर्ड की स्वरोजगारपरक योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए आवेदन फार्म व अधिक जानकारी के लिए जिला ग्रामोद्योग खादी कार्यालय प्रोफेसर कालोनी, पर सम्पर्क करने की अपील किया।
 
उ0प्र0 माटीकला बोर्ड के मा0 सदस्य हरेन्द्र कुमार प्रजापति ने उपस्थित कुम्हार/प्रजापति को अवगत कराया कि प्रदेश में मिट्टी का कार्य करने वाले कारीगरों एवं शिल्पियों के व्यवसाय वृद्धि करने वाले तत्सम्बन्धित कलाकारों के परम्परागत कला को संरक्षित और सम्बर्धित करते हुए उनकी समाजिक सुरक्षा, आर्थिक सुदृढ़ता एवं तकनीकी विकास को बढ़ावा देने व विपणन आदि की सुविधा उपलब्ध कराने तथा परम्परागत उद्योगों को नवाचार के माध्यम से संरक्षित एवं सम्बर्न्धित करते हुए अधिकाधिक लोगों को रोजगार का अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से उ0प्र0 माटीकला बोर्ड का गठन किया गया है।
 
उन्होंने बताया कि इलेक्ट्रिक चाक के माध्यम से प्रतिदिन आठ घण्टे में चार से पॉच हजार तक कुल्हड़ तैयार होगें जिनकों बेचकर चार से पॉच हजार की आमदनी होगी। उन्होंने कुम्हारों को व्यवसाय के नये टेªडिंग व पैकेजिंग पर जोर दिया। उन्होंने बताया कि शादी विवाह व अन्य समारोह में, मॉल व बड़े स्तरों पर काफी, चाय, लस्सी, आदि के लिए डिजाईनर कुल्हड़/ग्लास को पसन्द किया जा रहा है। अब कुम्हारों को समय व आवश्यकता के अनुसार अपने परम्परागत व्यवसाय में नवाचार पहल करने की उपयोगिता है। उन्होंने कहा कि प्रजापति समाज कुल्हड़ बनाकर देश की माटी को चुनने का सभी को अवसर प्रदान करता है।
 
मुख्य विकास अधिकारी यशवंत कुमार सिंह ने बताया कि औद्योगिक जगत द्वारा कच्चे मॉल के रूप में माटी का प्रयोग कर मूर्तिया, खिलौने, बर्तन, नरियॉ इत्यादि वस्तुएॅ बनाने का प्रचलन सदियों से रहा है। सिंलग यूज प्लास्टिक उत्पादों के प्रयोग से स्वास्थ्य के साथ पर्यावरण पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इस लिए सरकार माटीकला के  विभिन्न योजनाओं द्वारा स्वरोजगार को प्रेरित कर रही है।
 
जिला सूचना अधिकारी डॉ0 पंकज कुमार ने बताया कि मा0 प्रधानमंत्री जी के ‘वोकल फार लोकल’ एवं मा0मुख्यमंत्री जी के ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ के द्वारा स्थानीय कलाकारों के उत्पादों को बल मिला है। आज वितरित इलेक्ट्रिक चाक के माध्यम से हम अपने परम्परागत व्यवसाय व तकनीकी में आधुनिकता का नवाचार समाहित कर रहे है। जिससे कुम्हारों के जीविकोपार्जन में उन्नयन होगा। मिट्टी के कुल्हड़ो व गिलासों में पेय पदार्थो का सेवन करने के साथ ही मिट्टी की सोधी महक हमें अपने देश की मिट्टी से अपनापन/जुड़ाव महसूस कराती है।
 
हरियाव निवासिनी रीता देवी, जगापुर निवासिनी नगीना देवी, राजकुमार प्रजापति, सुजीत कुमार प्रजापति, प्रदीप कुमार, विष्णु कुमार, छोटे लाल, सुनील कुमार, लालबहादुर सहित कुल 20 लाभार्थियों को मा0 सदस्य द्वारा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करते हुए उन्हें विद्युत चालक चाक प्रदान किया गया।
 
इस अवसर पर जिला क्रीड़ाधिकारी सिराजुद्दीन, कम्बल कारखाना प्रबन्धक मो0 सलीम, ए0डी0ओ0 राजेश सिंह, गिरजा प्रसाद यादव, पवन कुमार यादव, अनिश आलम, सुरेन्द्र गुप्ता, राजेन्द्र कुमार सहित अन्य लाभार्थी व जनमानस उपस्थित रहें।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,। उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,।
स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।   7 राज्यों- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, तमिलनाडु, पंजाब, पश्चिम बंगाल और बिहार - की 13 सीटों...

Online Channel

साहित्य ज्योतिष