शिवगढ़ में मजाक बनकर रह गई परिषदीय विद्यालयों की परीक्षा

शिवगढ़ में मजाक बनकर रह गई परिषदीय विद्यालयों की परीक्षा

शिवगढ़,रायबरेली। क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों में चल रही वार्षिक परीक्षा मजाक बनकर रह गई है। कहीं झुंड बनाकर तो कहीं किताबों से नकल करते परीक्षार्थी मिले। मंगलवार को पूर्व माध्यमिक विद्यालय चितवनियां में 235 परीक्षार्थियों में 266 परीक्षार्थी उपस्थित मिले। जो झुंड बनाकर परीक्षा दे रहे थे। विद्यालय में तैनात शिक्षकों में प्रधानाध्यापक पवन प्रताप सिंह, सहायक अध्यापिका शशी वर्मा, अनुदेशक अतुल मौजूद मिले तो वहीं प्रमोदिनी देवी नदारद मिली।
 
वहीं प्राथमिक विद्यालय चितवनियां में 230 परीक्षार्थियों में 190 परीक्षार्थी उपस्थित रहे। जो गंदगी के बीच परीक्षा देते मिले। समय 10 बजकर 55 मिनट पर प्राथमिक विद्यालय गढ़ी में जहां छोटे बच्चे बरामदे में खेलते मिले तो वहीं तथा कक्षा चार - पांच के बच्चे किताबों से नकल करते मिले। प्रधानाध्यापक दिनेश कुमार ने बताया कि पिछले कई महीनों से वे विद्यालय में अकेले हैं, इस लिए कुछ दिक्कतें आ रही हैं।
 
यही हाल प्राथमिक विद्यालय बलेथा का रहा जहाँ समय 11 बजकर 11 मिनट पर कई बच्चें किताबों से नकल करते नजर आए, चार शिक्षकों में प्रधानाध्यापक प्रदीप गिरि अभिषेक सिंह उपस्थित मिले वहीं सुनील कुमार,अमरेंद्र बहादुर नदारत मिले। इस बाबत जब खण्ड शिक्षाधिकारी गौतम प्रकाश से बात की गई तो उनका कहना था कि नियम के कहीं कुछ पाया गया तो जांचकर कार्रवाई की जाएगी।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel