सरकारी गल्ले की काला बाजारी करने वाले माफियाओं पर आपूर्ति विभाग ने दर्ज कराया मुकदमा।

सरकारी गल्ले की काला बाजारी करने वाले माफियाओं पर आपूर्ति विभाग ने दर्ज कराया मुकदमा।

अपना बचाव करने के चक्कर में माल पंचायत के उचित दर विक्रेता का नाम लिया गया ।


 स्वतंत्र प्रभात 
 अपना बचाव करने के चक्कर में माल पंचायत के उचित दर विक्रेता का नाम लिया गया ।

मलिहाबाद /माल आवश्यक वस्तु निगम का सरकारी गेहूं बेंचने के मामले में आपूर्ति विभाग ने मुकदमा दर्ज कराया है । चालीस कुंतल बरामद गेहूं सरकारी गोदाम में प्रभारी के सुपुर्द कर दिया है । अपना बचाव करने के चक्कर में माल पंचायत के उचित दर विक्रेता का नाम लिया गया ।


 जांच टीम ने वहां जाकर स्टाक मिलान किया तो वह सही पाया गया । क्षेत्रीय आपूर्ति निरीक्षक और वरिष्ठ अधिकारियों ने जांच के बाद एसडीएम को जांच आख्या सौंपी थी । गल्ले के कारोबार में लिप्त गल्ला माफियाओं ने बचाव के सभी प्रयास किये । कभी कोटेदार का नाम लिया तो कभी दूकान किराए पर देने का बहाना बनाया । लेकिन यह साबित कर पाने में सभी आरोपी विफल रहे कि राशन का गेहूं किस दूकान का है ।


 साथ ही आरोपी मुन्ना लाल और ब्रजमोहन ने ओमप्रकाश सिंह उर्फ ओमे का यह कहते हुये बचाव करने का प्रयास किया कि उन्होंने गोदाम किराये पर लिया है । काफी समय से गल्ले के अवैध कारोबार में लिप्त तीनों आरोपी यह बात साबित नहीं कर पाये । कोटेदारों से प्रतिमाह लाखों का राशन खरीदा जाता है । इस कारोबार को उड़ान देने के लिये पैसे और रसूख के धनी पर्दे के पीछे बने रहते हैं ।

 कालाबाजारी के इस गोरखधंधे में शामिल लोग अब सकते में हैं चूंकि अब यह तथ्य भी जांचा जायेगा कि बरामद गेहूं किस उचित दर की दूकान से लाया गया । थानाध्यक्ष रवींद्र कुमार ने बताया आपूर्ति निरीक्षक संजय यादव की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है ।

 जिलाधिकारी  से संस्तुति मिलने के बाद दर्ज हुये इस मामले में विवेचना प्रचलित की जा रही है दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाई की जाएगी । गल्ला माफियाओं के खिलाफ हुई इस करवाई की क्षेत्रवासियों ने भी सराहना की है ।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel