सहारा के निवेशकों को भुगतान दिलाने का संकल्प लेकर निकली जनजागरण यात्रा

सहारा के निवेशकों को भुगतान नही दिलाना चाहती सरकार, सुप्रीम कोर्ट आखिरी उम्मीद

सहारा के निवेशकों को भुगतान दिलाने का संकल्प लेकर निकली जनजागरण यात्रा

चार हजार से ज्यादा लोग कर चुके हैं आत्महत्या, सहारा का भुगतान कराने में रूचि नही ले रही सरकार

बस्ती। सहारा के निवेशकों का भुगतान का संकल्प लेकर मंगलवार को बस्ती जनपद मुख्यालय से रथयात्रा रवाना हुई। संयुक्त न्याय इंडिया जन आंदोलन संघर्ष न्याय मोर्चा के बैनर तले निकली रथयात्रा में राष्ट्रीय अध्यक्ष अभय देव शुक्ला, पीआई एल प्रभारी सतीश चतुर्वेदी, शहनाज आदि ने बस्ती से रथ यात्रा को रवाना किया। यात्रा देर शाम अयोध्या पहुंचेगी। यहां राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन होगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष अभय देव शुक्ला ने कहा कि सहारा पीड़ितों के भुगतान को लेकर सुप्रीम कोर्ट से न्याय की गुहार करने के लिए पूरे देश में जन जागरण यात्रा चलाई जाएगी जिससे सहारा के निवेशकों का भुगतान हो सके।
 
वर्तमान सरकार द्वारा सहारा प्रबंध तंत्र को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संरक्षण दिया जा रहा है जिसके कारण निवेशकों का भुगतान अधर में लटका है। इसके लिए ऑल इंडिया जन आंदोलन संघर्ष नया मोर्चा अब सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने जा रही है। इसके लिये निवेशकों को ग्राउंड लेबल पर जाकर सुप्रीम कोर्ट में लगने वाले पीआईएल से जोड़ा जाएगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सतीश चतुर्वेदी ने कहा कि वर्तमान सरकार शहर के पीड़ित निवेशकों का भुगतान दिलवाना नहीं चाहती। देशभर में 4000 से ज्यादा लोग आत्महत्या कर चुके हैं।
 
लेकिन केंद्र सरकार लगातार सहारा के प्रबंध तंत्र को संरक्षण दे रही है। कार्यकर्ता जमा करता आपस में लड़ रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट अब आखरी उम्मीद है मैं। देश भर के लोगों से आवाहन करता हूं कि सुप्रीम कोर्ट की पीआईएल से जुड़े। रथ यात्रा में संबोधित करते हुए शहनाज जहां ने कहा कि सहारा प्रबंध तंत्र ने देशभर के कार्यकर्ताओं और जमाकर्ताओं में वर्ग संघर्ष की स्थिति ला दिया है। लोग अपने घरों से नहीं निकल पा रहे हैं। घर से बाहर निकलते ही जमाकर्ता अपने पैसे के लिए कार्यकर्ताओं को घेरना शुरू कर देते हैं।हालात बद से बस्तर होते जा रहे हैं।
 
सरकार है कि सहारा प्रबंध तंत्र को संरक्षण देकर के देश के निवेशकों का पैसा आपस में बंदर बांट करना चाहती है। मुरैना से संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष विष्णु ओझा ने कहा कि सरकार अगर चाहती तो देश के निवेशकों का पैसा भी मिल जाता और कार्यकर्ताओं का रोजगार वापस भी हो जाता। कार्यकर्ता तिल तिल के मर रहा है कोई उस की सीधी लेने वाला नहीं है। कार्यक्रम के दौरान ऑल इंडिया जन आंदोलन संघर्ष नया मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अभय देव शुक्ला और उन की पूरी टीम ने शास्त्री चौक पर पीपल के पेड़ का पौधा लगाकर पर्यावरण को बचाने की भी पहल शुरू की।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

गुजरात के राज्यपाल पहुंचे कृषि विवि कुमारगंज, कल किसानों को करेंगे संबोधित गुजरात के राज्यपाल पहुंचे कृषि विवि कुमारगंज, कल किसानों को करेंगे संबोधित
मिल्कीपुर ,अयोध्या। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कुमारगंज में  प्राकृतिक खेती संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन शनिवार को किया...

अंतर्राष्ट्रीय

पत्रकार गिउलिया कॉर्टेज़ ने जॉर्जिया मेलोनी पर किया ऐसा कमेंट, केवल 4 फीट की हो, नजर भी नहीं आती, 5 हजार यूरो का फाइन अब देना पड़ेगा पत्रकार गिउलिया कॉर्टेज़ ने जॉर्जिया मेलोनी पर किया ऐसा कमेंट, केवल 4 फीट की हो, नजर भी नहीं आती, 5 हजार यूरो का फाइन अब देना पड़ेगा
International Desk मिलान की एक अदालत ने एक पत्रकार को सोशल मीडिया पोस्ट में इतालवी प्रधानमंत्री जियोर्जिया मेलोनी का मजाक...

Online Channel

साहित्य ज्योतिष

राहु 
संजीव-नी।
संजीव-नी।
संजीवनी।
दैनिक राशिफल 15.07.2024