हत्या के आरोप में आला कत्ल चाकू के साथ अभियुक्त गिरफ्तार

 गोरखपुर। खजनी क्षेत्र भरवलिया में बीते दिनों घरेलू विवाद को लेकर पति द्वारा पत्नी को चाकुओ से प्रहार कर गम्भीर कर दिया गया था। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी ।


चित्र 5

 गोरखपुर। खजनी क्षेत्र भरवलिया में बीते दिनों घरेलू विवाद को लेकर पति द्वारा पत्नी को चाकुओ से प्रहार कर गम्भीर कर दिया गया था। जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी । मृतक महिला के भाई के तहरीर हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर आरोपी की तलाश की जा रही थी । खजनी पुलिस मुखबीर के जरिये खजनी कटघर के पास  गिरप्तार कर जेल भेज दिया ।   

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर के दिशा निर्देशन में पुलिस अधीक्षक दक्षिणी के मार्गदर्शन व क्षेत्राधिकारी खजनी के कुशल नेतृत्व में थाना प्रभारी खजनी द्वारा थाना खजनी जनपद गोरखपुर पर पंजीकृत मु0अ0सं0- 191/21 धारा अंर्तगत 302,120बी भादवि से सम्बन्धित वाछिँत अभियुक्त की गिरफ्तारी की गयी ।

    थाना खजनी जनपद गोरखपुर के ग्राम भलुआन मे  12.जुलाई को अभियुक्त धर्मेन्द्र सिंह पुत्र लालमन सिंह द्वारा अपनी पत्नी पूनम सिंह को पारिवारिक कलह के कारण चाकू से मार दिया था। जिनको दवा ईलाज के लिए अस्पताल ले जाते समय उसकी मृत्यु हो गयी थी ,मृतका पूनम सिंह के भाई कुलदीप सिंह पुत्र रामपरीखन सिंह निवासी ग्राम निबा होरिल थाना महुली जिला सन्तकबीर नगर के तहरीर पर  14.जुलाई को थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 191/2021 धारा 302,120बी भादवि बनाम 1.धर्मेन्द्र सिंह पुत्र लालमन सिंह निवासी ग्राम भलुआन थाना खजनी जनपद गोरखपुर  व अन्य दो सहयोगियो 2. गुलाब सिंह पुत्र मथुरा सिंह निवासी ग्राम कुवरजोत थाना खजनी जनपद गोरखपुर 3.राजकुमार पुत्र तुलसी निषाद निवासी ग्राम हर्दीडीह थाना खजनी जनपद गोरखपुर के विरूद्ध पंजीकृत किया गया था ।

जिसमे वाँछित चल रहे अभियुक्त धर्मेन्द्र सिंह उपरोक्त को मय आलाकत्ल एक अदद चाकू के साथ मुझ प्रभारी निरीक्षक व मय हमराह फोर्स के द्वारा मुखबिर की सूचना पर अस्पताल रोड खजनी के पास से गिरफ्तार किया गया। चाकू बरामदगी के आधार पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 195/2021 धारा 4/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत कर जेल भेजा जा रहा है।  हत्या आरोपी को  गिरप्तार करने वाली टीम।प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार मौर्य  

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel