फर्रुखाबाद में बच्चों को बंधक बनाकर रखने वाले सुभाष और पत्नी का एक बार फिर होगा पोस्टमॉर्टम

फर्रुखाबाद में बच्चों को बंधक बनाकर रखने वाले सुभाष और पत्नी का एक बार फिर होगा पोस्टमॉर्टम

स्वतंत्र प्रभात – उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में नाबालिग बच्चों को बंधक बनाने वाले सुभाष बाथम और उसकी पत्नी रूबी का रविवार को दोबारा पोस्टमॉर्टम होगा. वहीं रिश्तेदारों ने सुभाष और उसकी पत्नी के शव को लेने से इनकार कर दिया है. पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस शवों का अंतिम संस्कार करेगी. आपको बता दें कि

स्वतंत्र प्रभात –

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में नाबालिग बच्चों को बंधक बनाने वाले सुभाष बाथम और उसकी पत्नी रूबी का रविवार को दोबारा पोस्टमॉर्टम होगा. वहीं रिश्तेदारों ने सुभाष और उसकी पत्नी के शव को लेने से इनकार कर दिया है. पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस शवों का अंतिम संस्कार करेगी.

आपको बता दें कि गुरुवार को सुभाष बाथम ने बर्थडे के नाम पर 23 बच्चों को अपने घर बुलाकर बंधक बना लिया था. हालांकि उत्तर प्रदेश पुलिस करीब 11 घंटे बाद सभी मासूम बच्चों को सुरक्षित छुड़ाने में कामयाब रही. इस दौरान पुलिस ने क्रॉस फायरिंग में सुभाष बाथम को ढेर कर दिया था.

वहीं, स्थानीय लोगों ने अपराधी सुभाष बाथम की पत्नी रूबी की बुरी तरह पिटाई की थी, जिसमें वो घायल हो गई थी. उसको अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था, जहां उसकी भी मौत हो गई थी. सुभाष बाथम की पत्नी की पिटाई पुलिस की मौजूदगी में की गई थी. कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया था कि सुभाष बाथम की पत्नी को बचाने की कोशिश की गई थी.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुभाष बाथम को ढेर करने वाली और बच्चों को सुरक्षित छुड़ाने वाली पूरी पुलिस टीम को 10 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है. बताया जा रहा है कि सुभाष बाथम को हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा भी सुनाई गई थी. वह जमानत पर बाहर आया था.

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel