तुलसीपुर थाना कस्बा इंचार्ज गुरुसेन सिंह व पुलिस टीम की सक्रियता से बची युवक की जान,

निखिल मिश्रा के करीबियों ने स्थानीय पुलिस को सूचित कर युवक के मौत की दी खबर 

तुलसीपुर थाना कस्बा इंचार्ज गुरुसेन सिंह व पुलिस टीम की सक्रियता से बची युवक की जान,

आनन फानन में पहुंची पुलिस ने तोड़ा दरवाजा तो युवक मिला जीवित

विशेष संवाददाता मसूद अनवार की रिपोर्ट 

 

बलरामपुर

ज़मीन जायदाद के मामले में युवक को अपने ही लोगों से है अपने जान का खतरा 

बलरामपुर स्टेट की संपत्ति जिसे महाराजा पाटेश्वरी प्रसाद के द्वारा धर्मांध कार्य के लिए राम जानकी मंदिर ट्रस्ट को वर्षो पहले दिया गया था और इस उपयोग ट्रस्ट के द्वारा धर्म के कार्य को लेकर जमीन ली गई थी ।जिसमे गांधी सेवा आश्रम के साथ धर्मांध कार्यो के उपयोग के वास्ते इस संपत्ति का उपयोग करने के बात की जानकारी स्थानीय लोगो द्वारा दी जा रही है। लेकिन ट्रस्ट के मुखिया के न रहने के बाद उसके परिवार के बड़े पुत्र के कब्जे में आने के बाद ट्रस्ट के जमीनों को बेचने का कार्य प्रारंभ हो गया।

इसको लेकर पारिवारिक विवाद की बात भी सामने आ रही है। आपको बता दे की इस ट्रस्ट की जमीन को कई लोगो से बिक्री भी की गई है जिसका रजिस्ट्री भी दी जा चुकी है और उसी क्रम में बचे जायदाद बेचने के मामला को लेकर युवक का मानसिक उत्पीड़न करने और जबरन निखिल मिश्र निवासी तुलसीपुर नई बाज़ार गन्ना समित को इतना टार्चर किया गया कि वह अपने कमरे में बंद होगया और अंदर से कुंडी लगा ली ।

आप को बता दे कि निखिल मिश्रा का सड़क पर ज़मीन है आगे कई दुकान है और पीछे मकान है उसी मकान में निखिल मिश्रा पुत्र अंनत प्रकाश मिश्रा रहते हैं रात लगभग 9:30 बजे के करीब निखिल मिश्रा अपने कमरे का दरवाज़ा अंदर से बंद कर अपने कमरे में बेसुध होकर लेटे हुए थे परिजनों ने निखिल मिश्रा को बहुत उठाया पर कोई आवाज नहीं आई उनके करीबी ने समझा की निखिल मिश्रा ने कहीं आत्महत्या तो नहीं कर ली जिसको लेकर स्थानीय पुलिस को घटना की सूचना दी गई ।

आनन फानन में तुलसीपुर थाना के कस्बा इंचार्ज गुरुसेन सिंह पुलिस टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंचे जहां पर पत्रकारों एंव पड़ोसियों के सामने निखिल मिश्रा नाम के युवक को आवाज़ दी युवक नहीं उठा।फिर कस्बा इंचार्ज गुरुसेन ने पत्रकारो व मोहल्ले वालों के समक्ष दरवाजा तोड़ दिया पुलिस टीम जब कमरे में घुसी तो युवक कम्बल ओढ़े बे सुध पड़ा था पुलिस टीम ने कम्बल उठाया युवक को जगाया तो युवक उठकर रोने लगा।स्थानीय पुलिस टीम की सक्रियता से निखिल मिश्रा नाम के युवक की जान बच गयी।

जिसको लेकर स्थानीय पुलिस टीम ने संदिग्ध 3 को उठा थाना ले गई थी ।जिसको लेकर जब कस्बा इंचार्ज गुरुसेन सिंह से कार्यवाही को लेकर बात की जाती है तो उनका कहना है पूछताछ के बाद आपसी सहमति के आधार पर समझौता करवा घर भेजा गया है ।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel