खतौनी की जमीन को दबंगों से कब्जा करवाने का ठेका लेने लगी पुलिस



केदारनगर,अम्बेडकरनगर

इब्राहिमपुर पुलिस खतौनी की जमीन को दबंगों से कब्जा करवाने का ठेका लेने लगी है । मामला थाने के सामने का है जहां पर खुशीराम वर्मा की पुस्तैनी जमीन को कुछ दबंगों के द्वारा जबरन कब्जा किया जा रहा था जिसका विरोध खुशीराम पुत्र स्व. पारस नाथ व परिजनों के द्वारा किया गया। इसके बाद पुलिस को सूचना मिलते ही पीड़ित पक्ष से अमित,अनुराग,राजेन्द्र,शिव पूजन, रणजीत सहित तीन महिलाओं को भी गिरफ्तार कर हवालात में डाल दिया गया और जमीन पर कब्जा करवा दिया गया है।

आरोपों से बचने के लिए दबंगों में से एक को गिरफ्तार किया गया। खबर लिखे जाने तक इस प्रकरण में कोई भी तहरीर किसी भी तरफ से पुलिस को नहीं मिली थी। इस कार्य को पुलिस की मिलीभगत से दबंगों ने कर डाला । बता दे कि जो जमीन दबंगों द्वारा कब्जा की जा रही थी वह पीड़ित के नाम खतौनी में दर्ज है जबकि दबंग यह दावा कर रहे हैं कि वह जमीन उनकी है।

सुबह में दबंगो के द्वारा इस मीडिया कर्मी के पास फोन करके खर्चा पानी देने के नाम पर जमीन कब्जा करवाते समय तांडव को नजर अंदाज करने की बात कही गई थी । इसके बावजूद मीडिया ने तो अपने कर्तव्यों का पालन किया है लेकिन पुलिस ने सच्चाई का साथ नही दिया। अब पुलिस पीड़ित परिजनों का ही धारा 151 के अंर्तगत चालान करने की फिराक में है।


वही दूसरी तरफ उतरेथु में भी दबंगो के द्वारा पुलिस की मिलीभगत से श्रीराम सैनी की खतौनी की जमीन पर जबरन कब्जा किया गया है जो उतरेथु के ही अकबेलपुर मजरे में स्थित है। इसको दबंग गिरजा प्रसाद वर्मा ने पुलिस की मिली भगत से जबरन कब्जा कर लिया है । इस जमीन के निकट से एक सरकारी खड़ंजा भी निकला हुआ है जिसको भी दबंग गिरजा प्रसाद वर्मा ने कब्जा कर लिया है

जिस पर क्षेत्रीय लेखपाल ने न्यायालय में मुकदमा किया है। इस जमीन को भूमि स्वामी श्री राम सैनी ने संध्या पत्नी जीत बहादुर को बैनामा किया लेकिन खारिज दाखिल के समय दबंग गिरजा प्रसाद वर्मा ने आपत्ति दायर कर दिया। अब यह जमीन न तो भूमि स्वामी ही कब्जा कर पा रहा है और ना ही इस जमीन को खरीदने वाला ही कब्जा कर पा रहा है। दोनों बेशकीमती जमीनो पर भूमाफियाओं की नजर लगी हुयी थी जिस पर पुलिस ने कब्जा करवा ही दिया।