आखिर क्या है सच संदीप आत्महत्या का कहीं संदीप मारपीट से आहत होकर नही की आत्महत्या

पिता ने नामजद तहरीर देकर हत्या करने का लगाया है आरोप

भीटी अंबेडकरनगर। नामजद तहरीर देने के बाद भी पुलिस ने अभी तक मुकदमा पंजीकृत नहीं किया है मामला भीटी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सभा सुबरहा का है जहां पर बीते शनिवार कि सुबह संदीप निषाद पुत्र रमाशंकर निषाद उम्र 32 वर्ष का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर के अंदर छत के सहारे गमछे से लटका मिला था। पुलिस ने शव को ग्रामीणों की मदद से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार हैकिंग आया है। जिसे पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आत्महत्या करने की पुष्टि कर रही है। लेकिन शुक्रवार की शाम उसके पाटीदार सुधीर निषाद के द्वारा अपने एक और साथी के साथ मिलकर अपने घर से थोड़ी दूरी पर स्थित पुलिया पर जमकर पटक पटककर मारा पीटा था। मारपीट से बौखलाए मृतक संदीप निषाद अपनी जान बचाकर अपने घर में जाकर दरवाजा बंद कर लिया था

तथा सुबह उसकी लाश छत के सहारे गमछे से लटकी हुई मिली थी तथा जिस कमरे में संदीप ने फांसी लगाया था उस कमरे में पीछे से लोहे का चैनल भी है जो पूरी तरह से खुला हुआ था। आखिर कहीं संदीप मारपीट से आहत होकर आत्महत्या तो नहीं किया। या फिर उसे मारपीट कर अधमरा कर फंदे से लटका तो नहीं दिया गया और बाद में उसकी मृत्यु हो गई हो।

और मामला आत्महत्या में बदल गया। जिस तरीके से मृतक के गले पर घाव के निशान दिखाई पड़ रहे थे तथा जिस तरीके से फंदे से लटकता पाया गया व उसके शरीर पर चोट के निशान भी देखे जा सकते थे वह अपने आप में एक बड़ा सवाल खड़ा करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here