अवध विश्वविद्यालय के शिक्षक कोरोना से बचाव के लिए छात्र-छात्राओं का जागरूक करेंगे

अवध विश्वविद्यालय के शिक्षक कोरोना से बचाव के लिए छात्र-छात्राओं का जागरूक करेंगे

सभी की एकजुटता से कोविड महामारी से लड़ा जा सकेगाः कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह

अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के आवासीय परिसर के शिक्षक देश में बढ़ रहे कोविड-19 के संक्रमण से निपटने के लिए परिसर के छात्रों को जागरूक करेंगे। अविवि के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह के निर्देश पर विभागाध्यक्षों, निदेशकों, समन्वयकों एवं शिक्षकों को सूचित कर दिया गया है।
             वर्तमान समय में देश में बढ़ रही कोविड संक्रमण की दूसरी वेव पहले के मुकाबले ज्यादा लोगों को संक्रमित कर रही है। इस संक्रमण से कईयों ने अपनी जान गवा दी है। इससे लोगों में एक भय का वातावरण बन गया है। इस संक्रमण के भय से निजात दिलाने के लिए परिसर के शिक्षक व्हाट्स एवं मोबाइल के माध्यम से परिसर के छात्रों को जागरूक कर रहे है। छात्रों को दूसरी वेव से बचाने के लिए कोविड गाइडलाइन का कड़ाई के साथ पालन करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके साथ ही छात्र-छात्राओं से कहा गया है कि अनावश्यक कार्य से घर से बाहर न निकले घर में रहकर ही आॅनलाइन पढ़ाई करें। परिसर के विभिन्न विभागों द्वारा छात्र-छात्राओं का एक व्हाट्स ग्रुप बनाया गया है जिसमें शिक्षक छात्र-छात्राओं पढ़ाई के साथ कोविड संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक कर रहे है। उनके अन्दर व्याप्त भय को दूर किया जा रहा है। कोविड गाइडलाइन के अनुसार छात्रों को मास्क बराबर लगाने के लिए कहा जा रहा है। दो गज की दूरी के साथ हाथ की धुलाई बराबर करनी है।
                   सकारात्मक सोच बनाये रखने के लिए पुस्तकें पढ़े एवं संगीत सुने। इसके साथ ही छात्रों को कोविड टीकाकरण के लिए अभिभावकों एवं अपने परिचितों को सोशल मीडिया के माध्यम से घर पर ही रहकर प्रेरित करे। जिससे की इस गंभीर संक्रमण से अपना बचाव कर सके। कुलपति प्रो0 सिंह ने बताया कि कोविड-19 की दूसरी वेव ने हम सभी को चिन्ता में डाल दिया है। बहुत से लोगों ने अपनों को संक्रमण के कारण खो दिया है। आज जरूरत है कि लोगों में व्याप्त भय को समाप्त करने की है। इसलिए विश्वविद्यालय के शिक्षक अपने परिसर के छात्र-छात्राओं को कोविड महामारी से बचाव के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से जागरूक कर रहे है। निश्चित ही छात्रों के अन्दर एक सकारात्मक संदेश जायेगा।
              अपने एवं अपने परिवार के साथ अन्य को भी संक्रमण से बचाव के प्रेरित कर सकेंगे। कुलपति ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने कोविड-19 से निपटने के लिए देशवासियों को दवाई भी कड़ाई भी का नया नारा दिया है। हम सबको उसका पालन करना चाहिए। निश्चित ही हम सभी की एकजुटता से कोरोना महामारी से शीघ्र ही मुक्ति प्राप्त कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here