ग्राम प्रधान व ठेकेदार की मिलीभगत से हो रहा निर्माणाधीन पंचायत भवन में धड़ल्ले से पीले ईंट का उपयोग

भीटी, अम्बेडकरनगर। विकासखंड भीटी के ग्राम सभा रासलपारा के मजरा रघुपट्टी में निर्माणाधीन पंचायत भवन में धड़ल्ले से पीले ईंट और घटिया मसाले से ग्राम प्रधान व ठेकेदार के मिली भगत से निर्माण कराया जा रहा है। सरकार के द्वारा जो मानक दिया गया है उसके विपरीत ठेकेदार द्वारा धड़ल्ले से काम कराया जा रहा है। पूरे निर्माण में पीले ईट से इस कदर निर्माण कराया जा रहा है मानो लग रहा है कि ग्राम प्रधान से उस निर्माण कार्य से कोई मतलब नहीं है आशंका जताई जा रही है कि कहीं ग्राम प्रधान ठेकेदार से मोटी रकम लेकर इस घटिया किस्म के ईट से निर्माण तो नहीं करवा रहे हैं। इस तरह से हो रहे घटिया किस्म के ईट से निर्माण का अभी तक प्रधान के कान में जूं तक नहीं रेंगा वही इस तरह से हो रहे घटिया निर्माण को लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश व्याप्त है। वही जब पंचायत भवन के घटिया निर्माण के बारे में ग्राम प्रधान राम नरायन से फोन पर वार्ता किया गया तो उन्होंने बताया कि पीले ईट का उपयोग नींव भरने के लिए किया जा रहा है|

जब सरकारी मानक के बारे में पूछा गया तो ग्राम प्रधान कुछ नहीं बोल सके और तो और ग्राम प्रधान ने कहा जेई आकर के निर्माण कार्य को देख कर गए हैं उन्होंने कुछ नहीं कहा बाद में प्रधान ने कहा कि हम जाकर देख लेते हैं। इस कदर से नीव में ही पीले ईट का प्रयोग कराया जा रहा है वही नींव को ही लोग मकान का आधार मानते हैं पीले ईट के नींव के ऊपर कौन सा मकान कितने दिनों तक टिकाऊ बन पाएगा। ऐसे ही ठेकेदारों के द्वारा घटिया निर्माण कराकर अपना जेब भर लेते हैं और समय अवधि के पहले ही मकान जर्जर होकर टूट कर गिरने लगते हैं और किसी दुर्घटना का हिस्सा बनते हैं। बताया जा रहा है कि बन रहे पंचायत भवन की लागत लगभग 22 लाख रुपये है।
मुख्य विकास अधिकारी को शपथ पत्र देकर लल्लन प्रसाद यादव, अनुज अंकुर आदि ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि पंचायत भवन का निर्माण खंड विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी सोनल सिंह की मिलीभगत से प्रधान द्वारा घटिया निर्माण कराया जा रहा है।