दहेज़ लोभियों की भेंट चढ़ी विवाहिता, ससूरालियों ने की पीटकर हत्या,सास-ससुर व दो जेठानियाँ गिरफ्तार ।

दाह संस्कार कराने के प्रयास का आरोपी ग्राम प्रधान भी फरार ।

ए के फारूखी  (रिपोर्टर )

ज्ञानपुर, भदोही ।

यूपी के भदोही में एक विवाहिता दहेज रोगियों की भेंट चढ़ गई जिन्होंने पल्सर बाइक व 1 (एक) लाख नगद के लालच में काफी दिनों तक विवाहिता को प्रताड़ित करते हुएआखिरकार शुक्रवार को पीट पीट कर उसकी हत्या कर दी।

ससुराल वालों ने खुद विवाहिता के मायके के परिजनों को सूचना दी , कि उनकी बेटी की हार्टअटैक के चलते मौत हो गई है। सूचना मिलते ही विवाहिता के परिजन का रो रो कर बुरा हाल रहा।मायके वाले बेटी के ससुराल जा पहुंचे। जहां पता चला कि लोग शव को लेकर लोग दाह संस्कार करने गए हैं।

जिस पर विवाहिता के परिजनों ने थानाध्यक्ष सुरियावां प्रदीप को सूचना दी। थानाध्यक्ष सुरियावां की जानकारी मिलते पर कोईरौना पुलिस सीतामढ़ी गंगा घाट पर जा धमकी। यह देख कर दाह संस्कार करने के लिए शामिल कई लोग नौ दो ग्यारह हो गए। पुलिस ने विवाहिता का दाह संस्कार करने पहुंचे ससुरालवालों से शव को जप्त कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

विवाहिता की हत्या का साक्ष्य छिपाने के प्रयास में पुलिस ने ससुराल पक्ष के चार लोगों सास-ससुर व सोनी,चंदा नामक दो जेठानियों को गिरफ्तार कर लिया है । जबकि सात नामजद अभियुक्तों में ग्राम प्रधान पर भी साजिश का आरोप है।जो फरार है। तहरीर मे विवाहिता के पिता ने पुलिस को बताया कि बेटी को ससुराल में प्रताड़िता किया जा रहा था।

2 जून 2017 को हुई थी बेटी निशा की शादी ।

जौनपुर पड़राव,भोरापुर  पोस्ट कुत्तूपुर गांव  निवासी लालजी गोड़ के पुत्री निशा गोड़ की शादी 2/3, जून 2017 को सुरियावां थाना क्षेत्र के पोस्ट बंशीपुर कंसापुर गांव निवासी चंद्रबली के पुत्र आशीष गोड़ से हुई थी। शादी के कुछ दिन तो सब ठीक था, लेकिन समय बीतते ही ससुराल वाले निशा देवी को एक लाख नकदी व पल्सर बाइक की लाने के लिए परेशान करने लगे।

निशा ने दहेज प्रताड़ना की जानकारी अपने माता-पिता को भी दी। उसके पिता ने ससुरालवालों से गरीबी की दुहाई दी, लेकिन दहेज लोभियों को तरस नहीं आया। वो लोग अपनी हरकत से बाज नहीं आए और निशा के पति आशीष, ससुर चन्द्रबली और सास सावित्री, तथा जेठानी सोनी व चंदा ने शुक्रवार को जमकर पिटाई करते हुए ऊसकी हत्या कर दी।

इसके बाद अपना गुनाह छिपाने के लिए उन्होंने उसके शव को जल्द से जल्द दाह-संस्कार करने का प्रयास करते हुए आखिरकार सीतामढ़ी गंगा घाट परमृतका के ससुराल के चार परिजन गिरफ्तार कर लिए गये।फरार अन्य परिजनों की तलाश में पुलिस जुट गई है। घटना को लेकर गांव एवं आसपास में चर्चाओं का बाजार गर्म है। अधिकांश लोग मृतक निशा गोड़ की हत्या करने की आशंका उसके ससुराल वालों पर ही जता रहे हैं।