उदीयमान सूर्य को अर्ध्य के साथ छठ महापर्व सम्पन्न ।

ज्ञानसरोवर के गंदगी के बीच अर्ध्य देने को मजबूर व्रती महिलाएं ।

ए •के • फारूखी ( रिपोर्टर)

ज्ञानपुर,भदोही  ।

  जिले भर में सूर्य उपासना का महापर्व छठ पूरे उत्साह के साथ मनाया गया। शुक्रवार को जहां अस्तांचलगामी सूर्य को श्रद्धालुओं ने बंड़ी संख्या में अ‌र्घ्य दिया गया। वहीं मंगलवार को उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य देने के साथ छठ पर्व संपन्न हो गया।बाबा हरिरनाथ पर मुख्य तालाब ज्ञानसरोवर सहित घोपईला तालाब सहित अन्य कई ग्रामीण इलाकों के तलाबों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखी गयी।

शनीवार की भोर आसमान बादलों से अच्छादित रहा, जिसके कारण लोग सूर्य देव के दर्शन को ले आशंकित थे, लेकिन ज्योंही अ‌र्घ्य का समय करीब आने लगा बादलों से निकलकर सूर्य देव ने अपने भक्तों को हर्षित कर दिया। सुबह पूजा के समय भी स्थिति कुछ ऐसी ही थी, लेकिन लोगों को भगवान भास्कर ने निराश नहीं किया।

नगर स्थित ज्ञानसरोवर तालाब में भीषण गंदगी व पानी पर जमी हरी-हरी गंदी काईयों के बीच जहां श्रद्धालु महिलाएं तालाब में उतरकर अर्ध्य देने को मजबूर रहीं।वहीं परिजन पानी के बदबू से नाक बन्द करने को मजबूर रहे। घोपईला तालाब में भी छठव्रतियों ने सूप उठाकर भगवान की उपासना की। सुरक्षा को लेकर सभी छठ घाटों पर पुलिस के व्यापक इंतजाम थे।

नगर पंचायत एवं बाबा बर्फानी पूजा कमेटी द्वारा मंदिर से ज्ञानसरोवर तक आकर्षक सजावट एवं रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था की गई थी। बेहतर जगह की चाह में लोग समय से घंटों पूर्व घाट पर पहुंचने लगे थे। सुबह के अ‌र्घ्य के बाद दिनभर बाजार विरान रहा। ज्यादातर दुकानें बंद रही ,और लोग अपने परिजनों के साथ त्यौहार का आनंद उठाते रहे।

इसी प्रकार गोपीगंज नगर मे चार दिवसीय सूर्य उपासना का महापर्व उगते हुए सूर्य को अ‌र्घ्य के साथ ही संपन्न हो गया। क्षेत्र के रामपुर गंगा घाट सहित बाबा बड़े शिवमंदिर व आसपास के सभी तालाबों, सरोवरों एवं ग्रामीण इलाकों में छठ पर्व का आयोजन किया गया। शुक्रवार की शाम छठव्रतियों द्वारा स्थानीय तालाब में डूबते हुए सूर्य को अ‌र्घ्य दिया गया। जबकि शनीवार को तड़के सुबह लोगों ने तालाबों पर पहुंचकर पूजा-अर्चना की।

सीतामढ़ी : उदयांचल सूर्य को अ‌र्घ्य देने के बाद आस्था का महापर्व सूर्य षष्ठी व्रत संपन्न हो गया। जबकि शनिवार को अस्ताचलगामी सूर्य को श्रद्धालुओं ने अ‌र्घ्य दिया। दूर-दराज इलाकों से आये नर-नारी श्रद्धालुओं ने सीतामढ़ी गंगाघाट पर मुख्य रूप से छठ पर्व को मनाया।सुप्रसिद्ध मंदिर सीतामढ़ी में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखी गयी।

सेमराधनाथ घाट: लोकआस्था का महापर्व छठ पूजा सेमराधनाथ क्षेत्र के विभिन्न हिस्सों में उदीयमान भास्कर को अ‌र्घ्य देने के साथ संपन्न हो गया। चार दिनों तक क्षेत्र का वातावरण भक्तिमय बना रहा। शनीवार को छठव्रतियों ने निष्ठापूर्वक गंगा नदी के सेमराधनाथ घाट पर उदयगामी सूर्य को अ‌र्घ्य दिया। पूजा संपन्न होने के बाद प्रसाद ग्रहण करने का सिलसिला दिनभर जारी रहा।

बेरासपुर सूर्य उपासना का चार दिवसीय महापर्व गंगा घाट बेरासपुर सहित ग्रामीण क्षेत्र में धूमधाम व भक्तिभाव से संपन्न हो गया। शुक्रवार की शाम व्रतियों ने अस्ताचलगामी को पहला अ‌र्घ्य दिया तथा शनीवार को सुबह उदीयमान भास्कर को अंतिम अ‌र्घ्य देकर अपनी श्रद्धा व्यक्त की।

जहांगीराबाद हिन्दू धर्म के पवित्र महापर्व छठ पूजा का समापन उगते हुए सूर्य को अ‌र्घ्य देकर किया गया। शनिवार को गंगा घाट जहांगीराबाद पर उदीयमान सूर्य को अर्ध्य देने भोर के अंधेरे में ही महिला व कुंवारी कन्याओं का हुजूम उमड़ पड़ा।

वहीं ग्रामीण इलाकों में भी ताल-तलैये व तालाबों पर भी छठव्रतियों की भीड़ रही।छठ व्रतियों ने अ‌र्घ्य देकर भगवान भास्कर की पूजा-अर्चना की। इस दौरान सैकड़ों लोगों को सुबह स्नानकर छठ घाट पहुंचे। इस दौरान छठ पर्व की गीतों से इलाका गुंजायमान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here