करंट की चपेट में आने से अधेड़ की मौत, नैनी के युवा कोरोना से जूझ रहे परिवारों का बन रहे सहारा 

करंट की चपेट में आने से अधेड़ की मौत, नैनी के युवा कोरोना से जूझ रहे परिवारों का बन रहे सहारा 
स्वतंत्र प्रभात 
नैनी,प्रयागराज बेटे की बारात लौटने के बाद घर में पूजा के लिए आम की पत्ती तोड़ने गए दूल्हे के पिता की करंट लगने से मौत हो गई। घटना के बाद खुशी के माहौल में मातम  छा गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची  पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया। उधर परिवार में कोहराम मचा रहा।घटना औद्योगिक क्षेत्र के मवइया गांव की है। मिली जानकारी के अनुसार औद्योगिक क्षेत्र के मवइया गांव के रहने वाले अशोक निषाद 45 वर्ष पुत्र गेंदा लाल  के बेटे की बारात गयी हुई थी। बारात वापस लौटने के बाद सोमवार को घर मे पूजन होना था। जिसकी तैयारी में घरवाले जुटे हुए थे। पूजन के लिए अशोक लोहे की पाइप लेकर आम की पत्ती तोड़ने गए हुए थे। जहां पत्ती तोड़ने के दौरान वह करंट की चपेट में आ गया और उसकी मौत हो गयी। घटना के बाद घरवाले सारी तैयारी छोड़कर मौके पर पहुंच गए। घटना की जानकारी औद्योगिक पुलिस को मिली तो वह मौके पर पहुंची और शव को पीएम के लिए भेज दिया। अधेड़ की मौत से खुशी वाले घर मे मातम छा गया।

 नैनी के युवा कोरोना से जूझ रहे परिवारों का बन रहे सहारा

स्वतंत्र प्रभात 
नैनी। कोरोना की दूसरी लहर  पैर पसारती जा रही है। वहीं नैनी के युवाओं की एक टीम बड़ी हिम्मत से इस महामारी को मुंह तोड़ जवाब दे रही है। राहुल बनर्जी, श्रेया शुक्ला एवं हिना खान दिन रात कोरोना से जूझ रहे परिवारों के लिए तत्परता से खड़े है। कई दिनों से निरंतर स्वरूप रानी हॉस्पिटल में मरीजों के तीमारदारों के लिए निशुल्क भोजन एवं पानी वितरण का कार्यक्रम चला रखा है।
          मुख्य रूप से भोजन की पैकिंग एवं बनवाई दी इंस्टा कैफे के कुशल टीम द्वारा किया जा रहा। टीम में अथर्व आदित्य, कुलदीप (शेफ) आदर्श,विशाल दीक्षा श्रीवास्तव एवं रक्षा श्रीवास्तव जैसे मेहनती युवा दिन रात समाज के लिए लगे हुए है। भोजन वितरण में मनीष तिवारी, शिबू एवं अभिजीत बनर्जी जैसे कोरोना वारियर निरंतर लोगों की सेवा कर रहे हैं। कुछ जागरूक शहरी भी हर प्रकार से इस टीम का सहयोग कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here