सावन के पहले सोमवार को भक्तों ने किया जलाभिषेक

सावन के पहले सोमवार को भक्तों ने किया जलाभिषेक

स्वतंत्र प्रभात पाकुड़ संवाददाता:

सावन के पहले सोमवार पर पाकुड़ जिले के सभी प्रखंडों में भक्तों ने जलाभिषेक किया।कोरोना संक्रमण के कारण जिला प्रशासन के अनुरोध पर इस बार बहुत कम श्रद्धालु जलार्पण के लिए मंदिर पहुंचे।

अधिकतर श्रद्धालुओं ने अपने अपने घरों में बाबा भोले की पूजा की। हालांकि कई जगहों पर शिवालय बंद रहे। कोरोना को हवाला देते हुए गेट पर ही नोटिस चस्पा कर दिया गया था। जिन मंदिरों में भक्त पूजा के लिए जुटे वहां शारीरिक दूरी आदि का ख्याल रखा गया।सावन माह के दौरान शिवालयों में शिवभक्तों के साथ प्रशासन की भी कड़ी निगाह रही। मंदिर में किसी प्रकार की कोई भीड़ न लग पाई।

भक्तों के द्वारा लॉकडॉउन का उल्लंघन भी नहीं होने दिया गया। भागवान शिव का सबसे प्रिय माह सावन का है।सावन माह में शिव भक्त गंगा से कांवड़ में पवित्र गंगा जल लाकर भगवान शिव का जलाभिषेक करते हैं, इसके लिए वह जत्थे के साथ पैदल ही आते है। परन्तु इस बार कोरोना संक्रमण का खौफ लोगों में फैला हुआ है। अब सावन माह शुरूआत हुई तो शिवालयों पर प्रशासन की निगाह टिकी हुई है।

ऐसे में इन शिवालयों में किसी प्रकार की कोई भीड़ एकत्र न हो इसके लिए प्रशासन की ओर से वहां पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध करने के साथ ही मंदिर के पुजारी को कहा गया है, जिससे लॉकडॉउन का किसी प्रकार से उल्लंघन न हो सके।