खेल शिक्षकों ने की खेलों के लिए अग्रिम तैयारी

खेल-शिक्षकों-ने-की-खेलों-के-लिए-अग्रिम-तैयारी.

प्रयागराज: भले ही देश कोरोना महामारी से जूझ रहा हो और स्कूल ,कालेजो में बच्चों के खेल अग्रिम तिथियों तक स्थगित किये गए हों,परंतु इस दौरान खेल से जुड़ें हुए बेसिक व माध्यमिक के शिक्षको ने गरीब व पिछड़े क्षेत्रो से खेलकूद में होनहार बच्चों को राष्ट्रीय पटल पर हरसंभव मदद कर तैयार करने के लिए “टीचर्स गेम्स एसोसिएशन” का पंजीकरण करा के प्रदेश भर में बेसिक स्तर से खिलाड़ियों की नर्सरी तैयार करने हेतु आने वाले समय के लिए लामबंद हो रहे हैं। राष्ट्रीय वॉलीबाल खिलाड़ी व अंतरराष्ट्रीय वॉलीबाल कोच मुकेश शुक्ला ने बताया कि टीचर्स गेम्स एसोसिएशन समस्त उत्तर प्रदेश में उन परिषदीय विद्यालयों के बच्चों के प्रशिक्षण व प्रतिभाग हेतु हर संभव मदद के लिए कार्य करेंगे जो विद्यालय अपने बच्चों को विभागीय/ग़ैरविभागीय राज्यस्तर व राष्ट्रीय स्तर पर खेलकूद प्रतियोगिता में प्रतिभाग कराते आ रहे हैं।

प्रदेश भर से एसोसिएशन विभिन्न खेलों से जुड़े निर्णायकों व प्रशिक्षकों का डेटा एकत्र कर रहा है। साथ ही प्रत्येक जनपद के उन सभी परिषदीय विद्यालयों को सूचीबद्ध किया जा रहा है,जिनके बच्चे 2015 से अब तक राज्यस्तरीय बाल क्रीड़ा प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग किये हैं। प्रथम चरण में ऐसे विद्यालय के बच्चों को उनके प्रशिक्षकों द्वारा हरसंभव सुविधाएं उपलब्ध कराके बेहतर खिलाड़ियों की खेप तैयार किये जाने की योजना बनाई गई है।

एसोसिएशन के प्रदेश सचिव आशुतोष सिंह ने बताया कि ऐसे विद्यालय व उनके प्रशिक्षक विभिन्न चुनौतियों के बावजूद अपने जेब से प्रशिक्षण व प्रतिभाग के लिए धन खर्च करके बच्चों को काबिल खिलाड़ी बनाते हैं। जबकि विभाग से खेलों के लिए पर्याप्त धन आबंटित न होने के कारण प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग हेतु कोई विशेष सहयोग नही मिल पाता। जिससे बच्चों व उनके प्रशिक्षकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

इसलिए एसोसिएशन प्रदेश भर में प्रत्येक जनपद व मण्डल स्तर पर खेलकूद से जुड़े शिक्षकों की कार्यकारी समितियां बनाकर अपने माध्यम से खेलकूद के क्षेत्र में अनुकूल परिस्थितियां तैयार कर उद्देश्यों की पूर्ति करेगा तथा प्रत्येक खेलों के विकास के लिए उस खेल से संबंधित योग्य व्यक्तियों को प्रदेश प्रभारी बनाकर प्रदेश भर में उस खेल व उनके खिलाड़ियों के प्रोत्साहन व विकास पर ध्यान रखा जाएगा। साथ ही भारत सरकार के स्वस्थ व्यक्ति स्वस्थ भारत वाले फिट इंडिया मूवमेंट को भी आगे बढ़ाएगा।