असत्य पर सत्य की विजय के साथ विजयदशमी का पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है

असत्य पर सत्य की विजय के साथ विजयदशमी का पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जा रहा है

सुलतानपुर

असत्य पर सत्य की विजय के साथ मनाया जा रहा है विजयदशमी का पर्व

दशहरा (विजयादशमी या आयुध-पूजा) हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। अश्विन (क्वार) मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को इसका आयोजन होता है। भगवान राम ने इसी दिन रावण का वध किया था तथा देवी दुर्गा ने नौ रात्रि एवं दस दिन के युद्ध के उपरान्त महिषासुर पर विजय प्राप्त किया था। इसे असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है। इसीलिये इस दशमी को 'विजयादशमी' के नाम से जाना जाता है।
इस दिन लोग शस्त्र-पूजा करते हैं और नया कार्य प्रारम्भ करते हैं (जैसे अक्षर लेखन का आरम्भ, नया उद्योग आरम्भ, बीज बोना आदि)। ऐसा विश्वास है कि इस दिन जो कार्य आरम्भ किया जाता है उसमें विजय मिलती है। प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण-यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे। इस दिन जगह-जगह मेले लगते हैं। रामलीला का आयोजन होता है। रावण का विशाल पुतला बनाकर उसे जलाया जाता है। दशहरा अथवा विजयदशमी भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाए अथवा दुर्गा पूजा के रूप में, दोनों ही रूपों में यह शक्ति-पूजा का पर्व है, शस्त्र पूजन की तिथि है। हर्ष और उल्लास तथा विजय का पर्व है। भारतीय संस्कृति वीरता की पूजक है, शौर्य की उपासक है। व्यक्ति और समाज के रक्त में वीरता प्रकट हो इसलिए दशहरे का उत्सव रखा गया है। दशहरा का पर्व दस प्रकार के पापों- काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी के परित्याग की सद्प्रेरणा प्रदान करता है।

सप्ताह भर से चल रहा रामलीला मंचन का कार्यक्रम सुल्तानपुर रामलीला मैदान से प्रारंभ हुआ आज विजयदशमी के अवसर पर एक भव्य शोभायात्रा जिस असत्य पर सत्य की विजय के साथ रावण वध का कार्यक्रम गभडिया ओवर ब्रिज पर संपन्न हुआ। इस पावन पर्व पर रावण वध को देखने के लिए श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा रहा। प्रशासन पूरी तरीके से मुस्तैद दिखा समाजसेवी संगठनों व प्रशासन के साथ सभी नगर वासियों ने धूमधाम से दशहरे का पर्व मनाया।

वहीं आज विश्व प्रसिद्ध दुर्गा पूजा महोत्सव का शुभारंभ भी आज से ही हो रहा है इसमें सभी संगठनों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है।रावण वध के अवसर पर सुल्तानपुर पुलिस अधीक्षक व तमाम आला अधिकारियों के साथ जिला सुरक्षा संगठन,उत्तर प्रदेश अपराध निरोधक समिति से अमर बहादुर सिंह जिला सचिव ,जिला सह सचिव आशीष तिवारी के साथ गोपाल जी सोनी ,हमीदुल्लाह, पप्पू भाई, राम आसरे सोनी ब्रिगेडियर सहित तमाम पदाधिकारी व सदस्य तथा केंद्रीय पूजा समिति के तमाम पदाधिकारी व पत्रकार बंधु उपस्थित रहे।

Loading...
Loading...

Comments