विशेष द पक्र्युशनिस्ट एवं छाया मुद्गल, ने रिदम पर आयोजित किया लाईव परफोर्मेन्स रिदमोलोजी का आयोजन किया

विशेष द पक्र्युशनिस्ट एवं छाया मुद्गल,  ने रिदम पर आयोजित किया लाईव परफोर्मेन्स रिदमोलोजी का आयोजन किया

विशेष द पक्र्युशनिस्ट एवं छाया मुद्गल, डायरेक्टर, धीतान प्रोडक्शन्स ने रिदम पर लाईव परफोर्मेन्स रिदमोलोजी का आयोजन किया। इस मौके पर पक्र्युज़न उत्साद तौफीक़ कुरैशी द्वारा इन्टरैक्टिव सत्र का आयोजन भी किया गया।

कार्यक्रम का आयोजन एम.एल. भारतीय आॅडिटोरियम, अलायन्स फ्रैंकेज़ डे दिल्ली में किया गया। रिदमोलोजी के माध्यम से विशेष और ताफीक़ कुरैशी ने रिदम को प्रोत्साहित करने का प्रयास किया, इसके अलावा इन्टरैक्टिव सत्र के दौरान दर्शकों को दोनों कलाकारों से बहुत से सवाल पूछने का मौका मिला। श्रोता उनके परफोर्मेन्स से मंत्रमुग्ध हो गए। रिदमोलोजी की कामयाबी आने वाले समय में भी दर्शकों लुभाती रहेगी। 

विशेष ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने अपने जीवन को पक्र्युज़न के प्रति समर्पित कर दिया है। संगीत उनकी सांसों में बसा है। उनकी उर्जा और जोश के कारण वे आज दुनिया भर में लोकप्रिय हो चुके हैं। संगीत परफोर्मेन्स के अलावा वे जाने माने डीजे एवं कलाकारों के साथ जैमिंग सत्रों,

कोरपोरेट शो का आयोजन भी करते हैं, वे अपने खुद के स्टुडियो का भी प्रबंधन करते हैं। विशेष विभिन्न स्कूलों एवं संस्थानों में कक्षाओं और कार्यशालाओं के माध्यम से दुनिया भर में अपना ज्ञान बांटने का प्रयास करते हैं। 

तौफीक कुरेशी भारत के जाने माने पक्र्युशनिस्ट और कम्पोज़र हैं। उन्हों संगीत के क्षेत्र में बेहतरीन परफोर्मेन्स के लिए जना जाता है। तौफीक ने भारत के पारम्परिक संगीत को दुनिया भर में फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

उनका परफोर्मेन्स दुनिया के विभिन्न हिस्सों में हर आयु वर्ग के लोगों को लुभाता रहा है। प्रख्यात तबला उस्ताद अल्लाराखा के पुत्र एवं शिष्य तौफीक पारम्परिक भारतीय धुनों को आधुनिक संगीत के साथ बेहतरीन संयोजन के रूप में प्रस्तुत करते हैं। 

Loading...

Comments