पत्रकार पर कोटेदार के हमले की निंदा , कार्यवाई न होने से रोष

पत्रकार पर कोटेदार के हमले की निंदा , कार्यवाई न होने से रोष

पत्रकार पर कोटेदार के हमले की निंदा, कार्रवाई न होने से रोष 

गंगापार के फूलपुर कोतवाली क्षेत्र  के महजुदवा गांव में 31 जनवरी को हुई घटना 

स्वतंत्र प्रभात
हंडिया (प्रयागराज)। 


फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के अमोलवा निवासी एक हिंदी दैनिक के पत्रकार कुश कुमार द्विवेदी पर खबर कवरेज के दौरान हुए हमले की स्थानीय पत्रकारों ने कड़े शब्दों में निंदा की है। प्रकरण में पुलिस ने केस तो दर्ज कर लिया किन्तु अभी तक प्राथमिक पड़ताल तक नहीं कि है। 


              क्षेत्र के महजुदवा गांव निवासी कुश कुमार द्विवेदी दैनिक भास्कर के जिला संवाददाता हैं। स्थानीय गांव के लोगों को सरकारी दर पर गेहूं, चावल व केरोसिन न देकर मनमानी वसूली एवं ई-पास मशीन से पर्ची निकलने के बाद भी कई-कई दिन तक राशन के लिए परिक्रमा कराने से आजिज ग्रामीणों की शिकायत पर 31 जनवरी को वह न्यूज़ कवरेज कर रहे थे। इस बात से आग बबूला कोटेदार चन्द्रजीत अपने पुत्रों के साथ पत्रकार के घर धावा बोल दिया।

भुक्तभोगी ने बताया कि उसने भीतर से दरवाजा बंद कर किसी तरह परिवार सहित जान बचाई। कोई  पुलिसिया कार्रवाई न होने से पत्रकारों में गहरा रोष ब्याप्त। वरिष्ठ पत्रकार दयाशंकर त्रिपाठी ने हमले की कटु निंदा करते हुए पत्रकार व परिजनों के जान माल की सुरक्षा की मांग की है। 


            इस अवसर पर पत्रकार अमलेंदु कुमार त्रिपाठी, विजय विश्वकर्मा, जितेंद्र नाथ चौधरी, शरद कुमार चौरसिया, अमर नाथ यादव, शिव सागर मौर्य, राकेश कुमार पटेल व चंद्र भानु सरोज आदि उपस्थित रहे।

Comments