चतुर्थ चरण में न्यूमोकॉकल कॉज्यूगेट वैक्सीन का होगा शुभारंभ

REPORT BY-ANOOP SINGH

चतुर्थ चरण में न्यूमोकॉकल कॉज्यूगेट वैक्सीन का होगा शुभारंभ  

वैक्सीन व विटामिन ए की खुराक बच्चों के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी-डीएम

महोबा । कोविड -19 वैश्विक महामारी के दौरान 8 अगस्त 2020 से उत्तर प्रदेश के 56 जनपदों में चलाये जाने वाले अभियान के चतुर्थ चरण में पीसीवी( न्यूमोकॉकल कॉज्यूगेट वैक्सीन ) का शुभारम्भ किया जाएगा। तत्क्रम में पीसीवी (न्यूमोकॉकल कॉज्यूगेट वैक्सीन) प्रतिरक्षण कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित “जिला टास्कफोर्स” की बैठक में उपस्थित सदस्यों से रूबरू होते हुए जिला मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार तिवारी ने कहा कि  बच्चों को न्यूमोनिया से बचाने हेतु न्यूमोकॉकल कॉज्यूगेट वैक्सीन डेढ़ माह ( प्रथम डोज), साढ़े तीन माह (दूसरा डोज) और नौ से बारह माह (बूस्टर डोज ) तक के सभी बच्चों को लगाई जाएगी।पीसीवी के दोनों डोज में 5 एमएल दवा दी जाएगी।     

इस अवसर पर उन्होंने यह भी बताया कि 8 अगस्त से बाल स्वास्थ्य पोषण माह की भी शुरुआत हो रही है।जनपद में 13 अगस्त से यह अभियान चलाया जाएगा जिसमें टीकाकरण के साथ-साथ 9 माह से 5 साल तक के प्रत्येक बच्चे को विटामिन ए की खुराक पिलायी जाएगी।जनपद में 110854 बच्चों को विटामिन ए सम्पूरण पिलाया जाना है।उन्होंने बताया कि 9 से 12 माह के बच्चों को 1 एमएल तथा 1 से 5 साल तक बच्चों को 2 एमएल दवा पिलाई जाएगी।     

डीएम ने जनपदवासियों को अवगत कराते हुए कहा कि पीसीवी (न्यूमोकॉकल कॉज्यूगेट वैक्सीन) तथा विटामिन ए की खुराक बच्चों के स्वास्थ्य हेतु अति आवश्यक है तथा इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है।उन्होंने अपील की है कि सभी अविभावक अपने बच्चों को टीकाकरण के साथ साथ विटामिन ए जरूर पिलवायें।उन्होंने बैठक में उपस्थित समाजसेवियों से आह्वान किया कि लोगों को जागरूक करें और अभियान को सफल बनायें।उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि पीसीवी टीकाकरण से कोई भी बच्चा जनपद में छूटना नहीं चाहिए।       

बैठक में सीएमओ डॉ सुमन, सीएमएस डॉ आर पी मिश्रा, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ जी आर रतमेले, एसीएमओ डॉ सुरेंद्र प्रसाद, जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरेंद्र कुमार तिवारी, सूचना अधिकारी सतीश यादव सहित  समाज सेवी राम दत्त तिवारी, दाऊ तिवारी, रामजी गुप्ता आदि मौजूद रहे।