ग्रामीण क्षेत्र में लापरवाही करने से बाज नही आ रहे है लोग।

ग्रामीण क्षेत्र में लापरवाही करने से बाज नही आ रहे है लोग।

संतोष तिवारी (रिपोर्टर )

भदोही।

जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण नित नये आंकडों को छू रहा है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में पहले की अपेक्षा अब लोग काफी मनमानी करते नजर आ रहे है। इसकी वजह प्रशासनिक लापरवाही है जिससे लोग बेखौफ होकर मनमानी कर रहे है।

ग्रामीण क्षेत्रों में आलम यह है कि लोग दुकानों पर, सार्वजनिक स्थलों पर, समारोहों में भारी संख्या में इकट्ठा देखे जा सकते है। और एकाध लोगों को छोडकर लोग मास्क लगाना जैसे अब भूल गये है। ग्रामीण क्षेत्र में ऐसा इसलिए देखा जा रहा है कि स्थानीय जिम्मेदार केवल खानापूर्ति में जुटे है

और शासन प्रशासन के तरफ से कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी निर्देश को लोग नही मान रहे है। यदि प्रशासन चाहे तो लापरवाही और मनमानी करने वालों पर नकेल कस सकता है लेकिन पता नही क्यों प्रशासन लोगों की लापरवाही को संज्ञान में नही ले रहा है।

प्रशासन को ग्रामीण क्षेत्र के सभी ग्राम प्रधानों, कोटेदार, आशा कार्यकर्ती तथा आंगनवाड़ी कर्मियों के माध्यम से लापरवाही करने वालों को चिन्हित करके उनके खिलाफ कार्यवाही करने से लोग मनमानी करना बंद कर देंगे।

और शासन के तरफ से जारी सभी निर्देशों को पालन करना प्रारम्भ कर देंगे। साथ में प्रशासन स्थानीय ग्राम प्रधान को बडी जिम्मेदारी देते हुए लापरवाही करने वालों पर सख्ती से पेश आने के लिए तटस्थ कर दें।

क्योकि जब तक प्रशासन लोगों के लापरवाही और मनमानी पर कार्यवाही नही करेगा तब तक लोग कोरोना के संक्रमण को बढाने में सहयोगी साबित होते रहेंगे। ग्रामीण क्षेत्र में सबसे ज्यादा संक्रमण का खतरा दुकानों से फैलने की संभावना है क्योकि शासन के निर्देश के बावजूद दुकानदार सैनिटाइजर नही रखते है

अपनी दुकानों पर और मास्क लगाना तो केवल मजाक समझते है। प्रशासन को लापरवाही करने वालों पर सख्ती से पेश आना जरूरी है न कि उनके साथ खुद भी लापरवाही करना है। क्योकि इस समय जिले में जिस गति से संक्रमण के मामले आ रहे है वह काफी चिंताजनक है। और इसके खिलाफ सभी को एकजुट होकर प्रयास और कार्य करना है।