पराली जलाने से गन्ने की फसल के साथ लाही की फसल जलकर हुई खाक

संवाददाता -सुशील कुमार द्विवेदी

इटियाथोक,गोण्डा –
जयप्रभाग्राम निवासी एक किसान ने कंचनपुर गांव स्थित अपने खेत में चल रही तेज हवाओं के बीच खेत में पड़ी पराली को जला दिया ।धुआं उठता देख बगल के खेत में लाही के फसल की कटाई कर रहे पड़ोसी किसानों ने मौके पर पहुंचकर जल रही पराली को तत्काल बुझाने का सुझाव दिया।

बावजूद दबंग किसान अपनी जिद पर अड़ा रहा और चल रही तेज हवाओं के बीच पराली को जलने दिया।कुछ ही देर में तेज हवाओं के चलते आग बेकाबू हो गई और बगल में लगे कई बीघे गन्ने की फसल के साथ लाही की फसल को अपने आगोश में ले लिया।

जब तक गांव के लोग मौके पर पहुंचते और आग पर काबू करने की कोशिश करते तब तक आग से कई बीघे फसल जलकर खाक हो चुकी थी।आग की बढ़ती लपटों से पड़ोसी की फसल जलता देख पराली जलाने वाला किसान भयभीत होकर मौके से भाग खड़ा हुआ बगल में मौजूद किसानों के हल्ला गुहार को सुनकर पड़ोसी किसान जिसके खेत में आग लगी थी।भाग कर आया और मौके पर उपस्थित ग्रामीणों के सहयोग से आग पर काबू पाने का प्रयास करने लगा।ग्रामीणों की कड़ी मशक्कत से जब तक आग पर काबू पाया गया तब तक कई बीघे फसल जलकर राख में तब्दील हो गई।

उक्त घटना से क्षुब्द पीडि़त किसान ने आरोपी के खिलाफ भवानीपुरखुर्द चौकी पर तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत करने के साथ हर्जाना दिलाए जाने की मांग की है।आपको बता दें कि ताजा मामला इटियाथोक कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत कंचनपुर गांव से संबंधित है पीड़ित किसान ब्रिज नारायण तिवारी पुत्र स्वर्गीय ब्रह्मदत्त तिवारी कठौवा गांव के रहने वाले हैं उनकी पैतृक जमीन कंचनपुर गांव में स्थित जहां पर आगजनी की यह घटना हुई पीड़ित द्वारा भवानीपुर खुर्द चौकी पर दी गई।

तहरीर में यह आरोप लगाया गया है कि जयप्रभाग्राम के रहने वाले रामसेवक शुक्ला पुत्र रक्षा राम शुक्ला का खेत कंचनपुर गांव में हमारे खेत के बगल में स्थित है।इनके द्वारा आज दिनांक 29/03 /2020 को सुबह तकरीबन 10.30 बजे तेज चल रही हवाओं के बीच लोगों के मना करने के बावजूद खेत में पराली को जलायी गई जिससे हमारे खेत में लगी एक एकड़ गन्ने की फसल व कुछ लाही की फसल जलकर खाक हो गई।