औरैया से हारकर इटावा टूर्नामेंट से बाहर

औरैया से हारकर इटावा टूर्नामेंट से बाहर

जोन लीग टूर्नामेंट में इटावा को मिला था 206 का लक्ष्य

सात रन पर चार विकेट लेने वाले ऋषभ बने मैन आफ द मैच

उरई । अंडर-16 जालौन लीग क्रिकेट टूर्नामेंट में इटावा बी टीम का लचर प्रदर्शन जारी रहा। औरैया ने उसे 91 रन के बड़े अंतर से हराकर टूर्नामेंट को जीतने की रेस से बाहर कर दिया। इटावा बी टीम अपने दोनों मैच हार गई।
औरैया ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी को चुना।
औरैया से हारकर इटावा टूर्नामेंट से बाहर
कप्तान का निर्णय सही साबित हुआ। खराब और ढीली गेंदबाजी का फायदा उठाकर 30 ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 205 रन बनाए। अभी तक का यह सबसे बड़ा स्कोर है। यश दुबे ने शानदार बल्लेबाजी कर 50 रन बनाये।विशाल के 35 और ऋषभ के 34 रन भी उल्लेखनीय रहे। इटावा की ओर गेंदबाजों ने काफी अतिरिक्त रन लुटाए। गलती विकेटकीपर की ओर से भी होती रही। मो. जैब को चार और चिराग पोरवाल को तीन विकेट मिले।
बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरे इटावा के सलामी बल्लेबाज भरोसे के साथ विकेट पर नहीं टिक पाए। औरैया की ओर से धारदार गेंदबाजी से बल्लेबाज स्ट्रोक नहीं लगा पाए। यदि कुछ कैच ड्राप न होते तो सौ रन बन पाना भी मुश्किल लग रहा था। अकेले रामजी 20 रन और सचिन 12 रन बनाकर  ही कुछ देर एक छोर को संभाले रहे। इसके बाद प्रियदर्शी पाठक ने 18 रन बनाकर टीम के स्कोर को सौ के पार ले गए।
औरैया से हारकर इटावा टूर्नामेंट से बाहर
इटावा की  पूरी टीम 27 वे ओवर में 114 रन बनाकर औरैया से 91 रन से मैच हार गई।  ऋषभ सक्सेना ने सात रन पर चार विकेट चटकाये। उन्हें मैन आफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। इसके अलावा आयुष और सचिन ने दो- दो विकेट लिए। इस जीत के साथ औरैया ने अपनी आशाएं जीवित रखी हैं।
अम्पायर के रूप में डॉ. राकेश द्विवेदी और मनमोहन कुशवाहा रहे। स्कोरिंग निखिल राठौर व श्वेत गुबरेले ने की। कमेंट्री का दायित्व पुष्पेंद्र और विराट ने संभाला। इस अवसर पर  संयोजक नीरज पाठक, विनय सेंगर, पुष्पेंद्र चंदेल, जुझार राजपूत, मानवेन्द्र पिपरैया, दिवाकर शास्त्री, गौरव अग्रवाल, उत्तम विश्वकर्मा,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here