जिला क्षय रोग अधिकारी के निर्देश पर सहकर्मियों ने क्षय रोगियों को लिया गोद

जिला क्षय रोग अधिकारी के निर्देश पर सहकर्मियों ने क्षय रोगियों को लिया गोद
गोरखपुर।
प्रदेश को वर्ष 2025 तक क्षय रोग मुक्त किया जाना है । जिसके लिए राष्ट्रीय व प्रदेश स्तर पर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री द्वारा लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस संबंध में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने समाज के विभिन्न वर्गों से 18 से कम उम्र के क्षय रोगियों को बेहतर देखभाल के लिए इलाज आदि के लिए गोद लेने की बात कही थी। इसके बाद राज्यपाल  महोदया की मंशा के अनुसार  जिला चिकित्साधिकारी एवं जिला क्षय रोग अधिकारी ने  टीवी रोग से पीड़ित एक एक बच्चे को गोद लिया था ।
बृहस्पतिवार को इसी क्रम और आगे बढाने के उद्देश्य से जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ0 रामेश्वर मिश्र  व उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ विराट स्वरूप श्रीवास्तव के निर्देश पर पीपीएम कोऑर्डिनेटर अभय नारायण मिश्रा और जिला कार्यक्रम समन्वयक धर्म वीर प्रताप सिंह द्वारा दो टीबी रोग से पीड़ित बच्चों को गोद लिया गया।
इस मौके पर जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ रामेश्वर मिश्रा ने बताया कि राज्यपाल महोदया की मंशा है कि समाज के विभिन्न वर्गों में जिसमें सरकारी व गैर सरकारी क्षेत्र औद्योगिक इकाइयों व्यवसायियों समाजसेवी आदि वर्गों द्वारा मरीजों को गोद लेकर उनके इलाज अवधि में पूरी देखभाल व दवा जांच की निरंतर उपलब्धता को सुनिश्चित करने के दायित्वों का निर्वहन किया जाना है। डीटीओ ने कहा कि दवा सरकार द्वारा निशुल्क उपलब्ध कराई जाती है जिसे 6 माह तक बिना बाधा के सेवन किया जाना आवश्यक है जिसके अभाव में बीमारी की जटिलता बन सकती है जिसे रोकना समाज का दायित्व है।
जिला क्षय रोग अधिकारी कार्यालय पर आयोजित एक सादे समारोह के दौरान टीबी रोग से पीड़ित बच्चों को गोद लिया गया। इस अवसर पर  गोविंद, राजेश सिंह, कमलेश गुप्ता आदि लोग मौजूद रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here