दूसरे दिन प्रधानो ने प्रमुख पति के नेतृत्व में खोला मोर्चा कक्षों में तालाबन्दी कर एसडीएम को दिया ज्ञापन

नसीर ख़ान ब्यूरो
उन्नाव। खण्ड विकास अधिकारी के द्वारा अभद्र व्यवहार के विरोध में 81 ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानो ने दूसरे दिन ब्लाक मुख्यालय पर एकत्रित होकर हंगामा काटा। सहायक अधिकारी कक्ष सहित कम्प्यूटर कक्ष में ताला बन्द कर विरोध प्रदर्शन किया। बाद में प्रमुख पति के नेतृत्व में 81 ग्राम प्रधानो ने हस्ताक्षर कर ज्ञापन एसडीएम को सौंपकर कार्यवाही की मांग की है।


मालूम हो कि खण्ड विकास अधिकारी केएन पाण्डेय के खिलाफ 81 ग्राम प्रधान सुबह 10 बजे ब्लाक मुख्यालय पर जमा हो गए और सहायक विकास कक्ष, सभागार, कंप्यूटर कक्ष में ताला बन्द कर विरोध प्रदर्शन किया। प्रधान संघ अध्यक्ष आशीष सिंह, साधु सिंह, प्रताप, रामलखन यादव, प्रेमकुमार, अमर सिंह लोधी सहित 81 ग्राम प्रधानों ने आरोप लगाते हुए कहा कि बीडीओ केएन पाण्डेय प्रधान प्रतिनिधि से अभद्र भाषा का प्रयोग करने के साथ-साथ गाँव में जो भी प्रवासी मजदूर आए हुए है उनको जॉबकार्ड न बनाने का दवाब बनाते है जहाँ एक तरफ सरकार अन्य प्रदेशों से आये मजदूरों को काम दिया जाए वही बीडीओ ने तानाशाही कर नए जॉबकार्ड बनाने पर रोक लगा दी है।

जिससे गरीब मजदूरों को परिवार पालन करना मुश्किल हो गया है। जिसपर ब्लाक प्रमुखपति सेवकलाल रावत के नेतृत्त्व में 81 ग्राम प्रधानों ने एसडीएम प्रदीप वर्मा को बीडीओ को हटाने के लिए ज्ञापन दिया। इस मौके पर पूर्व ब्लाक प्रमुख धीरेंद्र कुमार यादव सहित काफी संख्या में ग्राम प्रधान मौजूद रहे। एसडीएम प्रदीप वर्मा ने बताया कि समस्त ग्राम प्रधानो की ओर से अध्यक्ष व ब्लाक प्रमुख पति ने बीडीओ को हटाने के लिए ज्ञापन सौंपा है। ब्लाक सभागार सहित कंप्यूटर कक्ष में बन्द ताला तुड़वा दिया गया है। बीडीओे व ग्राम विकास अधिकारियो की बैठक कर बातचीत की गई है।


इनसेट
प्रधानो को भड़काकर आगे किया गयाः बीडीओ
बीडीओ केएन पाण्डेय ने बताया कि मंगलवार को ग्राम विकास अधिकारियों ने आरोप लगाया था जो सरासर गलत था। आज प्रधानों को हमारे प्रति भड़काकर आगे किया गया है जो प्रधानगण आरोप लगा रहे है कि जॉबकार्ड नही बना रहे है वो कार्य रोजगार सेवक का है मेरा उसमें कोई काम नही है। 1 जून तक जनपद में सबसे ज्यादा हसनगंज में 8 हजार मनरेगा योजना में मजदूर काम कर रहे है जो भी आरोप लगाए जा रहा है वो गलत है।