मंदिर के गर्भगृह से अष्टधातु निर्मित बेशकीमती मूर्तियां हुई चोरी

अंतरराष्ट्रीय बाजार में करोड़ो के कीमत की आँकी जा रही गायब मूर्तियां

संवाददाता -सुशील कुमार द्विवेदी

इटियाथोक,गोण्डा –
कोतवाली क्षेत्र इटियाथोक के ग्राम पंचायत करूवापारा में स्थित प्राचीन राम जानकी मंदिर के गर्भ गृह से बीते सोमवार की देर रात अज्ञात चोरों के द्वारा अष्टधातु से निर्मित बेशकीमती राम, सीता, हनुमान व पीतल निर्मित लक्ष्मण की मूर्तियां चुरा कर चोरी की बड़ी घटना को अंजाम दिया गया।

मंदिर के वर्तमान पुजारी राधेश्याम मिश्रा ने बताया कि रात्रि करीब 9:00 बजे मंदिर में पूजा पाठ करने के उपरांत प्रतिदिन की भांति आज भी मंदिर के मुख्य गेट पर ताला लगाकर मंदिर के अंदर ही सो गए। मंगलवार की सुबह उठकर नित्य कर्म करने के बाद जब पूजन अर्चन करने हेतु मंदिर के गर्भ गृह में पहुंचे तो देखा मंदिर से चारों आराध्य देवों की बेशकीमती मूर्तियां गायब थी।नजारा देखकर मेरे हाथ पांव फूल गए। आनन-फानन में चोरी की इस बड़ी घटना की जानकारी मेरे द्वारा सर्वप्रथम स्थानीय कोतवाली पर दी गई।

चोरी की सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची स्थानीय पुलिस ने घटना के संबंध में उपस्थित स्थानीय लोगों से जानकारी प्राप्त कर घटनास्थल का जायजा लिया। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए सीओ सदर लक्ष्मीकांत गौतम व एसओजी प्रभारी अतुल कुमार चतुर्वेदी के साथ फॉरेंसिक टीम व डॉग स्क्वायड टीम ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर जांच पड़ताल की व घटना से संबंधित नमूने एकत्र किए।खबर लिखे जाने तक पुलिस टीम आवश्यक जांच पड़ताल में जुटी हुई थी।

ग्रामीणों से मिली जानकारी के मुताबिक करीब 5 वर्ष पूर्व इसी मंदिर से लक्ष्मण भगवान की अष्टधातु निर्मित बेशकीमती मूर्ति चोरी हो गई थी जिसका खुलासा अभी तक पुलिस टीम नहीं कर पाई थी कि एक बार पुनः चोरों ने एक साथ अष्टधातु निर्मित राम, लक्ष्मण, हनुमान, सीता की मूर्तियों पर अपना हाथ साफ कर दिया।ग्रामीणों के मुताबिक चोरी की गई चारों अष्टधातु निर्मित मूर्तियां लगभग 90 किलो वजन की थी और इनकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करोड़ों रुपए आँकी जा रही है।।चोरी की इस बड़ी घटना से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

वहीं ग्रामीणों ने चोरी का खुलासा जल्द से जल्द किए जाने का क्षेत्राधिकारी सदर लक्ष्मीकांत गौतम से अपील की है। ग्रामीणों की भावनाओं को देखते हुए सीओ सदर ने उपस्थित लोगों से सहयोग बनाए रखने की अपील करते हुए चोरी की घटना का अति शीघ्र खुलासा किए जाने का आश्वासन दिया तब जाकर आक्रोशित ग्रामीणों को शांत कराया जा सका।घटना के संबंध में स्वतंत्र प्रभात संवाददाता को क्षेत्र अधिकारी लक्ष्मीकांत गौतम द्वारा बताया गया कि मंदिर के पुजारी राधेश्याम मिश्रा द्वारा चोरी से संबंधित घटना की तहरीर स्थानीय कोतवाली में दी गई है। अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर मामले की छानबीन की जा रही है।