मिशन कंपाउंड में एक बृद्ध कर्मचारी को किया मैनेजर ने बेघर

REPORT BY-ANOOP SINGH

मिशन कंपाउंड में एक बृद्ध कर्मचारी को किया मैनेजर ने बेघर

कार्यवाही न होने पर कर्मचारी ने डीएम से न्याय की लगाई गुहार

कर्मचारी ने लगाए धर्मपरिवर्तन जैसे संगीन आरोप

कर्मचारी ने सीएम आवास पर आत्मदाह की दी चेतावनी

कुलपहाड़ ; महोबा ।  जनपद महोबा के कुलपहाड़ के क्रिश्चियन स्कूल में एक बृद्ध कर्मचारी ने मैनेजर के ऊपर संगीन आरोप लगाते हुए कोतवाली कुलपहाड़ मे तहरीर दी है जिसमें बताया गया एमानुअल बैरो निवासी मिशन कंपाउंड कुलपहाड़ के जब से मिशन कंपाउंड में नौकरी की शुरुआत की थी तभी से मिशनरियों द्वारा मानसिक व शारीरिक रूप से उसका शोषण किया जा रहा है। पीड़ित को मिशन में अपनी सेवा देते हुए 50 साल हो चुके।

तहरीर में आप बीती लिखते हुए पीड़ित ने उल्लेख किया कि पहले मिशन आंटी लिया मोसिया जिनका देहांत कुछ वर्षों पहले हो गया था उन्होंने मुझे मेरी पत्नी को इस मिशन कंपाउंड में पाला था और उन्होंने ही मुझे इस मिशन कंपाउंड में नौकरी दी थी और कहा था कि आजीवन आप लोग इस मिशन कंपाउंड में रहोगे यह सुविधा देखकर मैं छोटी से वेतन में नौकरी करने लगा,आज भी मेरी सैलरी इतनी कम है कि मेरे घर का राशन पानी मुश्किल से पूरा हो पाता है,और हमारा गुजारा बड़ी मुश्किल से चल रहा है जब हमारी मिशन से बाहर सेवा नौकरी करने की उम्र थी तो हमें मिशन से बाहर जाने नहीं दिया गया और आज की तारीख में 6 हजार सैलरी मिलती है जिससे मैं अपने परिवार को दो जून की रोटी बड़ी मुश्किल से दें पा रहा हूं।

आज मेरे पास मिशन से बाहर घर बनवाने के लिए कोई पैसा नहीं है और मैं कहां रहूंगा मैंने हमेशा बिजली का पूरा बिल चुकाया है आज जब दोनों बूढ़े हो चुके हैं तो हम लोगों को मैनेजर एन के बर्धन बाहर निकालने के लिए कह रहे है।इस कंगाली में अपने बच्चों को लेकर कहां जाऊं मेरे पास कोई घर नहीं । मैनेजर की मेरी बच्चियों पर गलत नजर रहती है,और  मुझसे कहता था कि मेरे रूम में अपनी लड़कियों को भिजवाओगे तो मैं तुमको इस मिशन से नहीं निकालूँगा और ना ही नौकरी से। साथ ही कर्मचारी ने आरोप लगाया कि हिन्दू लड़कों को फंसा कर ईसाई धर्म अपनाने का कुचक्र चलाना चाहते हैं। उन्होंने मुझे लालच भी दिया था कि मैं तुम्हें पैसा दूंगा तुम अपनी लड़कियों से धर्म परिवर्तन करवाने के अभियान में मदद करवाओ ।

जब हम लोगों ने यह सब करने से मना कर दिया तो हम लोगों को नोटिस पकड़ा कर बोल दिया गया कि जाओ घर खाली कर दो इस कोविड 19 कोरोना काल में प्रधानमंत्री गाइडलाइन के अनुसार कोई भी घर मालिक किराएदार को 21 मार्च 2021 तक नहीं निकाल सकता है मैनेजर ने प्रधानमंत्री गाइडलाइन की भी परवाह नहीं की और बोला कि कानून और पुलिस तो मैं पैसे से खरीद लूंगा। पीड़ित का आरोप कि उसे धमकाया जा रहा है कि घर खाली कर दे। बताया कि उसकी बेटियां जहां भी नौकरियां करने जाती हैं वहां मैनेजर एन के बर्धन और जोली हरबर्ट तथा मिशनरियों के लोग दबाव बना नौकरियां छुड़वा देते। पीड़ित ने कहा है कि उसका पूरा परिवार मैनेजर एन के बर्धन की धमकी से परेशान होकर  मुख्यमंत्री आवास लखनऊ अपने परिवार के छह सदस्यों के साथ आत्मदाह करने जा रहा है।

मेरे पास कोई दूसरा उपाय नहीं बचा है मेरे बुढ़ापे में इस कोरोना काल में कहां जाऊं और मैनेजर द्वारा लिहाजा मैं बहुत परेशान हो चुका हूं कृपया करके न्याय दिलवाया जाए नहीं तो मैं मरने के लिए मजबूर हो जाऊंगा।थाना प्रभारी निरीक्षक कुलपहाड़ अनूप दुबे ने बताया कि मामला संज्ञान मे है प्रकरण की जांच करने के बाद दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी।तहरीर देने के बावजूद कार्यवाही न होने पर पीड़ित परिवार ने आज जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी से मिल न्याय की गुहार लगाई है । अखबारों में खबरें प्रकाशित होने के बाद पत्रकारों को ही फोन पर धमकी दी जा रही है । योगी सरकार में सत्यता को दिखाने वाले चौथे स्तंभ को भी यह लोग कमजोर करना चाहते हैं।