कृष्ण रंग में स्वतंत्र भारत थीम पर हुई लाइव प्रस्तुतियां, आज़ादी की पूर्व संध्या पर देशभक्ति से सराबोर लाइव सेशन

कृष्ण रंग में स्वतंत्र भारत थीम पर हुई लाइव प्रस्तुतियां, आज़ादी की पूर्व संध्या पर देशभक्ति से सराबोर लाइव सेशन

कृष्ण रंग में स्वतंत्र भारत थीम पर हुई लाइव प्रस्तुतियां, आज़ादी की पूर्व संध्या पर देशभक्ति से सराबोर लाइव सेशन

स्वतंत्र प्रभात

आज़ादी की पूर्व संध्या पर देशभक्ति से सराबोर लाइव सेशन

कृष्ण रंग में स्वतंत्र भारत थीम पर हुई लाइव प्रस्तुतियां

लखनऊ। सीटीसीएस परिवार द्वारा स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर सीटीसीएस संस्था की स्थापना के 12 वर्ष पूर्ण होने पर कृष्ण रंग में स्वतंत्र भारत थीम पर शुक्रवार को सीटीसीएस के फेसबुक पेज पर दोपहर दो बजे से लेकर रात नौ बजे तक विभिन्न कलाकारों द्वारा आकर्षक प्रस्तुतियों के माध्यम से देश भक्ति के जज़्बे को प्रस्तुत किया गया।

वर्तमान परिस्थियों को देखते हुए इस वर्ष सीटीसीएस फैमिली एनजीओ के वार्षिकोत्सव का आयोजन अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन के साथ मिलकर फेसबुक लाइव के माध्यम से कराया गया जिसमें मोडासा गुजरात, दरभंगा बिहार एवं भोले बाबा की नगरी काशी वाराणसी, लखनऊ एवं फतेहपुर शहर के विभिन्न प्रतिभागियों द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियाँ दी गयी।

कार्यक्रम का शुभारंभ लखनऊ की उभरती कलाकार व बाल नृत्यांगना वैष्णवी शुक्ला द्वारा स्वतंत्रता दिवस की थीम पर आधारित गानों पर नृत्य प्रस्तुति से किया गया। लखनऊ की भूमिका गुप्ता ने जन्माष्टमी थीम पर आधारित अच्युतम केशवं, श्री कृष्ण गोबिंद हरे मुरारी व स्वतंत्रता दिवस की थीम गायन प्रस्तुत किया। लखनऊ से ही अर्पित सिंह एवं खुशी अवस्थी ने भी अरे द्वार पालों व ए वतन तेरे लिए पर गायन प्रस्तुति दी। बानी चावला द्वारा अपनी मधुर आवाज में ए मेरे वतन के लोगों व तेरी मिट्टी में मिल जावा पर गायन प्रस्तुत किया गया।

वहीं श्रेया बिंदल ने कृष्ण रंग में स्वतंत्र भारत की थीम को ध्यान में रखते हुए मैया यशोदा, राधे-राधे, कान्हा सो जा ज़रा,सहित कई देशभक्ति गानों पर बेहतरीन नृत्य प्रस्तुत किया गया।

भोले बाबा की नगरी काशी वाराणसी से अंशिका सिंह ने अपनी मधुर आवाज में कान्हा के जन्मदिन पर रंगीन ग़ुब्बारों से मंडप सजाया है सुनाया तो सभी दर्शक कान्हा की भक्ति में मंत्रमुग्ध हो गये। अंशिका सिंह ने देश-भक्ति से ओतप्रोत गाने भी गाये। वाराणसी से ही प्रदन्या दुबे व अलंकृता दुबे द्वारा भी जन्माष्टमी व स्वतन्त्रता दिवस की थीम पर आधारित प्रस्तुति दी गई!

बिहार दरभंगा से वैष्णवी ने ए वतन, वन्दे मातरम, छल्ला, जग्गा जितया पर नृत्य व ए मेरे प्यारे वतन पर अत्यंत मनमोहक गायन प्रस्तुति दी। लखनऊ से अर्पिता चटर्जी द्वारा कृष्ण जन्मोत्सव के उपलक्ष्य पर कान्हा सो जा ज़रा, राधा कैसे न जले, एवं राधे – राधे पर नृत्य प्रस्तुति दी गयी। फतेहपुर से नौ वर्षीय अभय सिंह ने जलवा तेरा जलवा, जो शहीद हुए सरहद पर गानों पर जोरदार नृत्य प्रस्तुत किया। मोडासा, गुजरात की निवासी शिवांगी चौहान द्वारा कृष्ण रंग में स्वतंत्रता दिवस की थीम पर आधारित प्रस्तुतियों पर नृत्य प्रस्तुत किया गया।

सान्वी श्रीवास्तव द्वारा भी देश रंगीला व आरम्भ है प्रचंड है गानों पर शानदार नृत्य प्रस्तुत किया गया। सीटीसीएस की ब्रांड अम्बेसडर सोनाली श्रीवास्तव द्वारा कान्हा सो जा ज़रा पर नृत्य एवं एक प्यारी कविता प्रस्तुत की गयी।कार्यक्रम का समापन बाल कलाकार रूबल जैन द्वारा थीम पर आधारित विभिन्न गानों पर नृत्य प्रस्तुतिकरण से किया गया।

सीटीसीएस के वार्षिकोत्सव के उपलक्ष्य पर प्रतिभागियों द्वारा दी गयी मनमोहक प्रस्तुतियों को सीटीसीएस के फेसबुक पेज के माध्यम से बाद में भी देखा जा सकता है।कार्यक्रम को सीटीसीएस के संस्थापक मनोज कुमार, संरक्षक आलोक अग्रवाल, अंजली फ़िल्म प्रोडक्शन्स से अंजली पांडेय व बृजेन्द्र बहादुर मौर्या द्वारा संयोजित एवं निधि श्रीवास्तव एवं अर्चना पाल द्वारा सफलतापूर्वक आयोजित किया गया।