जनपद में कहीं सादगी,तो कहीं उल्लास से मना कुर्बानी का त्योहार ।

महामारी से निजात पाने को दुआओं में उठे हाथ ।

ए •के •फारूखी (रिपोर्टर)

ज्ञानपुर, भदोही ।

कोरोना वायरस की वजह से आज शनिवार को जिले भर में ईद- उल-अजहा यानी कुर्बानी का त्यौहार कहीं सादगी के साथ तो कहीं उल्लास से मनाया गया।इस अवसर पर जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद व पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह ने जनपदवासियों को ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं दी और उम्मीद जताई कि यह पर्व विशेष भाईचारे की भावना को आगे बढ़ाएगा।

ऐसा पहली बार है, जब मुस्लिम भाई अपने पवित्र कुर्बानी का त्यौहार और बकरीद की नमाज मस्जिद में नहीं बल्कि अपने घरों में अता किये ।कहा जाता है कि कुर्बानी हमें मानवता, इंसानियत,दया, और मोहब्बत का पैगाम देता है। जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में शनीवार को कोरोना संक्रमण के दौर के बीच ईद उल अजहा का पर्व सादगी और उल्लास पूर्वक मनाया गया।

इस दौरान लोग एक-दूसरे को बकरीद की मुबारकबाद तो जरूर दिये, लेकिन गले नहीं मिले। जिले भर के कई क्वारंटीन सेंटरों में भी संक्रमित मरीजों लिए खास व्यवस्था की गई थी। बकरीद के दिन लोग नमाजों के बाद कोरोना वायरस महामारी से निजात व मुल्क एवं शहर अमनों-अमां के लिए हाथ उठाकर बारगाहे-इलाही से दुआएं की।

घरों से बाहर निकल कर एक दूसरे को बधाइयां दीं और बकरों की कुर्बानी की। इस बार चारों तरफ सन्नाटा पसरा है। लोगों में बकरीद त्योहार को लेकर उत्साह कम दिखा। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के बीच लोग अपने घरों में ही त्योहार मनाते रहे

जिले के गोपीगंज नगर में सभी मुस्लिम बंधुओं ने इस बार एक साथ मिलकर कुर्बानी की नमाज अदा नहीं की।बल्कि शासन-प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार नमाज में लोगों द्वारा सामाजिक दूरी को भी बरकरार रखा गया था। लोग अपने घरों में नमाज की रस्म अदा करने के बाद घरों से निकल कर आपस में गले तो नहीं मिल सके,मात्र दूर से ही औपचारिकता पूर्ण किये।

इसी प्रकार से भदोही शहर सहित नई बाजार, सुरियावां, दुर्गागंज, जंगीगंज, कोइरौना, खमरिया, माधोसिंह,घोसिंयां, उगापुर आदि सहित विभिन्न ग्रामीण इलाकों में बकरीद पर्व शालीनतापूर्वक मनाया गया। और एक दूसरे को मुबारकबाद दी गई।

जिले में अमन-चैन और भाईचारे की दुआ की। जिला प्रशासन द्वारा विशेष व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई थी। जनपद के कई क्वारंटीन सेंटरों में भी बकरीद की नमाज पढ़ने की खास व्यवस्था की गई थी ,तथा लोगों के लिए सेवइयां सहित अन्य व्यंजनों का इंतजमा किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here