जायकेदार पकवानों के लिए एयर फ्रायर ( बिना तेल में फ्राई किये पाएं फ्राई जैसा स्वाद )

Pooja Tiwari – Seattle, Washington (USA)
स्वतंत्र प्रभात (वाशिंगटन)

जैसा की सब लोग जानते हैं, कि आज टेक्नोलॉजी इतनी आगे बढ़ गयी है कि आज एक छोटा सा मोबाइल हजारों मील दूर बैठे होने पर भी पास होने का एहसास दिलाता है। इस टेक्नोलॉजी ने हर तरफ अपने पैर पासार लिए हैं, चाहे सोशल मिडिया हो, तो चाहे किचन। जैसा की आज हिंदुस्तान में हर कोई ओअन, फ्रिज ,इंडेक्शन के बारे में जानता होगा। लेकिन इन सब के बीच 1 और उपकरण आ गया है, जिसे  शायद बहुत कम लोग जानते होंगे लेकिन बहुत ही गुणकारी है। लेकिन आज हिंदुस्तान में भी इसे लोग बहुत खरीद रहें है। इसको एयर फ्रायर कहते हैं। अब जिसको इसके बारे में पता नहीं होगा तो उनके अंदर में 1 विशेष प्रकार की उत्सुकता हो रही होगी आखिर ये एयर फ्रायर है क्या इसका क्या काम है, तो चलिए मेरे प्रिये पाठकों मै आप सबको इसके बारे में पूरी जानकारी देती हूँ।

एयर फ्रायर क्या है :-

एयर फ्रायर रसोई में उपयोग किये जाने वाला 1 उपकरण है, जो कि  खाना बनाने में उपयोग किया जाता है। ये बिजली से चलने वाला यन्त्र है। ये कन्वेंशन तंत्र का उपयोग करके भोजन के चारो तरफ हवा प्रसारित करके खाना पकाता है। इसमें अधिकतर वही खाने बनते हैं, जिसे हम लोगों को  डीप फ्राई करना पड़ता है, जैसे फ्रेंच फ्राइज, पकौड़ी, भज्जिया इत्यादि।

अब आप सोच रहें होंगे की ये सब होता कैसे है, फ्राई करने के लिए तेल लगता होगा की नहीं ऐसे बहुत तरह के सवाल उठ रहें होंगे। तो जबाब है की नहीं लगता है तेल 😄.

एयर फ्रायर कैसे काम करता है :- 


जैसा की एयर फ्रायर कन्वेंशन तंत्र का उपयोग करके भोजन के चारो तरफ हवा प्रसारित करके खाना पकाता है। इसमें हवा उच्च गति से प्रसारित होती है, जिससे maillard माइलार्ड प्रतिक्रिया होती है, और उसकी वजह से खाने में 1 विशेष परत बनती है और उसका कलर 1 फ्लेवर के साथ चेंज होता है। ये खाने को ब्राउन करती है, जैसा की तेल में फ्राई करने पर होता है। क्योकि तेल में भी माइलार्ड प्रतिक्रिया होने पर ही ये भोजन को भूरा करता है। माइलार्ड प्रतिक्रिया तब शुरू होती है जब तापमान 280-330 ° F (140-165 ° C)

के बीच होता है। इसलिए कोई भी चीज पानी में चाहे जितनी देर उबालो कभी भी ब्राउन नहीं होती क्योंकि माइलार्ड प्रतिक्रिया नहीं होती इसका कारण यह की पानी का तापमान 100 डिग्री सेंटीग्रेट होते ही भाप बनने लगता है। 140 डिग्री सेंटीग्रेट तक पानी का तापमान कभी नहीं बन पाता है।

एयर फ्रायर के लाभ :-

हमारा हिंदुस्तान बहुत सारे तीज-त्योहारों का देश है जहाँ पर हमेशा लोग विशेष प्रकार के पकवान बनाते ही रहते हैं। लेकिन साथ में डरते भी है अरे इतना सारा तेल स्वास्थ ख़राब  हो जायेगा। लोग अब तो ऐसे फ्राई वाले पकवान बनाने से हिचकने भी लगे हैं जो लोग अपने स्वास्थ को लेके काफी सतर्क हैं, ऐसे में एयर फ्रायर का इस्तेमाल  करने से आपको पकवानों में  बिना तेल के भी वही स्वाद मिलेगा जो की फ्राई करने पर मिलता है। फिर किसी को कुछ बनाने के पहले सोचना नहीं पड़ेगा।

आप Prestige का एयर फ्रायर अमेज़ॉन से भी ले सकते हैं 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here