अपने आप को समाजसेवी कहने वाले जेपी द्विवेदी ने सरकार पर खड़े किये सवाल

अपने आप को समाजसेवी कहने वाले जेपी द्विवेदी ने सरकार पर खड़े किये सवाल

ये क्या! राजधानी लखनऊ में अब जिसका होगा जुगाड़ उसका ही होगा काम

अपने आप को समाजसेवी कहने वाले जेपी द्विवेदी ने सरकार पर खड़े किये सवाल

ये क्या! राजधानी लखनऊ में अब जिसका होगा जुगाड़ उसका ही होगा काम

संवाददाता — हर्षित मिश्रा की खास रिपोर्ट

आप को बता दे की आज उत्त्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का ये हाल है कि, जिसका जुगाड़ पहुंच है उसका काम होगा जिसका कोई सुनने वाला नहीं परिचय नहीं उसकी दूर दूर तक को पूंछ ये तब है जब कोरोना जैसी भयानक बीमारी आज जनता के जान से खेल रही है जी हां आपको बतादे की अपने आप को समाजसेवी बताने वाले जेपी द्विवेदी आय दिन वाहवाही की पोस्ट कभी व्हाट्सआप ग्रुप में तो कभी फेसबुक अपडेट किया करते है लेकिन इस बार ऐसी पोस्ट व्हाट्सअप में प्रकाशित की जिस पड़ कर रहा ना गया और समस्त जनता, नेता, मंत्री व अन्य अधिकारीयों के संज्ञान में लाने का पड़ा।
जी हां आपको बतादें की अपने आप को समाजसेवी बताने वाले जेपी द्विवेदी ने 1 व 2 मई को व्हाट्सअप में आजाद भारतीय किसान यूनियन नाम के एक ग्रुप में पोस्ट अपडेट की थी जो आप विस्तार से तथ्य समेत देख सकते है और पढ़ सकतें है।

ये की थी जेपी द्विवेदी ने पोस्ट

आज एक बार फिर राजधानी लखनऊ 172 विधानसभा फैजुल्लागंज चतुर्थ के अन्ना मार्केट से एकता पब्लिक होते हुए प्रीति नगर की पांचों गलियां और टीले वाली मस्जिद छोटी मस्जिद में समाजसेवी जेपी द्विवेदी जी के द्वारा कराया जा रहा है सैनिटाइजर जिसमें नगर निगम का सहयोग मिल रहा है l
     इसके साथ-साथ हमराह एक्स कैडेट एन सी सी सेवा संस्थान के संस्थापक अजीत सिंह बागी और अमन मिश्रा राजकुमार राय मोहम्मद जलील रानी सलाम हाशमी क्षेत्र की सम्मानित जनता का भरपूर सहयोग मिल रहा है समाजसेवी जे पी दिवेदी जी को कोविड-19 संक्रमण बीमारी से छुटकारा दिलाना है घर घर पहुंच कर सैनिटाइजर का छिड़काव कराना है यदि हमने प्रण लिया है आप सभी का सहयोग मिलता रहे घर घर से संक्रामक बीमारी से छुटकारा दिलाना है।
अब ऐसे में बड़ा सवाल ये है की ऐसी स्थिती में संक्रामक बीमारी से छुटकारा दिलाने को सैनिटाइजर का छिड़काव करवाना बहुत ही ने कार्य है किन्तु उत्तर प्रदेश सरकार से सवाल ये है की इस कार्य की सूची सिर्फ जुगाड़ वालों की है कि जिनका विभाग के अधिकारी, नेता, मंत्री, विधायक, सांसद से पहुंच है उन्ही का काम किया जायगा क्या सरकार द्वारा किये गये कार्यो पर सिर्फ उन्ही का अधिकार है है। बकी आम जनता अधिकार क्या दर दर भटकने का है।
अब देखना ये है की इस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी आगे नगर निगम व जो एसी गतीविधियों पर कार्य कर रहें इस पर क्या कदम उठातें है और जो उमीद लगाऐ बैठी आम जनता का विश्वास कैसे जिततेें है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here