कस्बे में प्रभारी निरीक्षक व ड्रग इंस्पेक्टर ने साथ मिलकर की औचक छापेमारी

अमित मदेशिया

छापेमारी के दौरान कई मेडिकल स्टोर संचालक दुकान बंद कर हुये फरार

रूपईडीहा बहराइच । रुपईडीहा थाना प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने कल ही पत्रकारों से शिष्टाचार भेंट,परिचय वार्ता की थी जिसमें नशे के कारोबार को प्रमुखता से रखा गया था जिस को ध्यान में रखते हुए प्रभारी निरीक्षक श्री सिंह ने दूसरे दिन त्वरित कार्रवाई करते हुए ड्रग इंस्पेक्टर के साथ मिलकर मेडिकल स्टोर पर छापे मारे ।

औचक छापेमारी के दौरान जो मेडिकल स्टोर वाले ड्रग इंस्पेक्टर के कार्रवाई के समय मेडिकल स्टोर बंद कर भाग जाते थे उनमें से एक मेडिकल संचालक ने ड्रग इन्स्पेक्टर के आने के सूचना पर अंदर से शटर लॉक कर लिया था जिसे खुलवा कर जांच की गई जांच के उपरांत मेडिकल स्टोर संचालक के पास लाइसेंस नहीं मिला तथा मेडिकल स्टोर संचालक नीलकमल वर्मा पुत्र राजाराम वर्मा निवासी दर्जी गांव पोस्ट जिला बहराइच के खिलाफ औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम के अंतर्गत सुसंगत धाराओं में विधिक कार्यवाही की गई ।

पत्रकारों ने कस्बे में फैले नशे के कारोबार पर प्रकाश डालते हुए कहा था कि रुपईडीहा की मूलभूत समस्या नशे का कारोबार है कुछ मेडिकल स्टोरों को छोड़कर अधिकतर मेडिकल स्टोर पर कोरेक्स,अल्टोरेक्स,नाइट्रावेट,कोडिन युक्त नशीली दवाएं धड़ल्ले से बेचे जाने की बात प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह को बताई थी ।

साथ ही यह भी कहा गया था कि भारत-नेपाल सीमावर्ती रुपईडीहा नेपालगंज के नव युवा पीढ़ी नशे के गिरफ्त में आकर काल के गाल में समाते जा रहे हैं जिसे दूर करना अति आवश्यक है । इसी बात को संज्ञान में लेते हुए प्रभारी निरीक्षक रुपईडीहा अशोक कुमार सिंह ने आश्वासन देते हुए देते हुए कहा था कि जल्द ही इन सभी समस्याओं का निराकरण कर दिया जाएगा ।

जिला अधिकारी बहराइच शंभू कुमार व एसपी बहराइच विपिन कुमार मिश्र, एसडीएम नानपारा सूरज पटेल व क्षेत्राधिकारी नानपारा जंग बहादुर यादव के निर्देशन पर प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह दल बल के साथ एक्शन मोड में नजर आए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here