वनडे सीरीज में भारत के गेंदबाजों को लगा बड़ा झटका

वनडे-सीरीज-में-भारत-के-गेंदबाजों-को-लगा-बड़ा-झटका

स्वतंत्र प्रभात

टीम इंडिया के गेंदबाज़ो की बेहद खराब शुरुआत रही है । तीन मैचों की वनडे सीरीज में लगातार दो मुकाबले हार जाने के बाद भारत यह टूर्नामेंट गंवा चुकी है। दोनों ही मैचों में भारत के गेंदबाजों का प्रदर्शन बहुत ही ख़राब रहा और यही वजह रही कि ऑस्ट्रेलिया ने पहले वनडे में 374 और दूसरे में 389 रनों का विशाल स्कोर बनाया। भारत के सबसे अहम गेंदबाज जसप्रीत बुमराह अभी तक अपने चिर-परिचित अंदाज में नजर नहीं आए हैं, जबकि कुछ ही समय पहले खत्म हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था जिसकी बदौलत मुंबई इंडियंस फाइनल में पहुंची। बुमराह ने अब तक खेले गए दोनों वनडे मैचों में सिर्फ दो विकेट हासिल किए हैं और 70 से अधिक रन लुटाए हैं। हालांकि मोहम्मद शमी ने उनसे ज्यादा विकेट चटकाए हैं, लेकिन वे भी अपने पुराने रंग में नहीं आ सके हैं।

इन दोनों गेंदबाजों के अलावा नौजवान गेंदबाज नवदीप सैनी भी बल्लेबाजों पर नकेल कसने में नाकाम साबित हुए हैं। यहां तक कि स्पिन गेंदबाजी की कमान संभाल रहे युजवेंद्र चहल और रवींद्र जडेजा भी अब तक अपना असर नहीं दिखा सके हैं। वहीं कुलदीप यादव और युवा गेंदबाज नटराजन जो कि टीम का हिस्सा हैं, को अब तीसरे वनडे में मौका मिल सकता है। लेकिन सीरीज शुरू होने से पहले नेट पर काफी अभ्यास के बावजूद टीम इंडिया के गेंदबाज अपना पुराना जलवा नहीं बिखेर सके हैं। भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने अपने एक ट्विटर पोस्ट में कहा कि भारत के गेंदबाज फिलहाल अपने फॉर्म से बाहर हैं। पठान ने कहा कि भारत के गेंदबाजों के पास शीर्ष स्तर का दमखम है और उन्होंने पहले के मैचों में शानदार प्रदर्शन भी किया है, लेकिन इस वक्त टीम को इन गेंदबाजों के खराब फॉर्म की कीमत चुकानी पड़ रही है।

पठान ने ट्वीट किया, “हमारे गेंदबाजों की काबिलियत पर संदेह नहीं किया जा सकता, लेकिन मौजूदा माहौल में वे खुद को ढालने में नाकाम हो रहे हैं। गेंदबाजों की सफलता इस बात पर निर्भर करेगी कि वे कितनी जल्दी ऑस्ट्रेलिया में सही लेंथ हासिल कर लेते हैं, जो कि अभी तक नहीं हो सका है।” भारत को सिडनी में खेले गए 29 नवंबर को दूसरे एकदिवसीय में 51 रन से हार का सामना करना पड़ा जिससे ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की विजयी बढ़त बना ली। भारतीय टीम को पहले मैच में 66 रन से शिकस्त झेलनी पड़ी थी।