भारतीय किसान यूनियन (भानु ) के महोबा जिलाध्यक्ष बने जगभान सिंह सेंगर

REPORT BY-ANOOP SINGH

भारतीय किसान यूनियन (भानु ) के महोबा जिलाध्यक्ष बने जगभान सिंह सेंगर 

संघठन का मुख्य उद्देश्य है किसानों की हक की लड़ाई लड़ना-हीरा सिंह 

वर्तमान में सबसे अधिक कोई परेशान है तो वह किसान ही है-इंद्रजीत फौजी

किसानों की समस्याओं को हल कराना ही संघठन का मुख्य उद्देश्य-जयराम बछेउरा

महोबा । भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हीरा सिंह भदौरिया व चित्रकूट धाम मण्डल अध्यक्ष जयराम सिंह बछेउरा , प्रदेश महासचिव इंद्रजीत फौजी व कानपुर जिला उपाध्यक्ष बीरेंद्र सिंह चौहान की उपस्थिति में कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन करते हुए जिला कार्यकारिणी घोषित की गयी जिसमें जिले से सामाजिक कार्यो में अग्रणी रहने वाले प्रगति सील किसान जगभान सिंह सेंगर को जिलाध्यक्ष , जिला उपाध्यक्ष सत्येंद्र द्विवेदी , जिला उपाध्यक्ष निर्भाल सिंह ,जिला महामंत्री नवनीत सिंह ,जिला संघठन मंत्री अर्जुन सिंह तोमर बनाये गए तो वही रामऔतार विश्वकर्मा गहरा ,रामसजीवन प्रजापति प्राणी ,नारायण प्रजापति छानी कला ने सदस्यता ग्रहण की ।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हीरा सिंह भदौरिया ने कहा कि यह राजनीतिक संघठन नही है इसलिए संघठन का उद्देश्य किसानों को मजबूत कर उनके हक की लड़ाई लड़ने का काम करता है । कार्यक्रमों में केवल किसान की ही बात होगी राजनीतिक बात कोई नही करेगा उन्होंने यह भी कहा कि हमारा देश कृषि प्रधान है जहां 75 प्रतिशत किसान होने के बावजूद आज का किसान प्रताड़ित है जिसका मुख्य कारण किसानों का जागरूक न होना ही है।

प्रदेश महासचिव इंद्रजीत फौजी ने कहा कि वर्तमान में सबसे अधिक कोई परेशान है तो वह किसान ही है इसलिए अब सभी पदाधिकारी मिलकर किसान भाइयों को एक मंच में लाये जिससे किसानों के हित की लड़ाई लड़ी जा सके । चित्रकूट मण्डल अध्यक्ष जयराम बछेउरा ने कहा कि जिले में प्रत्येक गाँव से किसान भाइयों को जोड़ा जाए जिससे प्रत्येक किसान की समस्या को एक ही मंच भारतीय किसान यूनियन लड़ सके ।

कानपुर मण्डल जिला उपाध्यक्ष बीरेंद्र सिंह चौहान ने भी किसानों के हित की बात कहते हुए कहा कि संघठन के पदाधिकारी किसानों की समस्याओं के प्रमुख बिंदुओं को लिखकर ज्ञापन के माध्यम से अधिकारियों को अवगत कराएं अगर अधिकारी नही सुनते तो हमारा संघठन जिला मुख्यालय से लेकर दिल्ली तक किसानों की समस्याओं को लेकर लड़ेगा ।