किसान सलाहकारों ने अपनी मांगों को लेकर काला पट्टी लगाकर विरोध प्रदर्शन किया

सिंहेश्वर-प्रखंड-के-सभी-किसान-सलाहकारों-ने-सरकार-एवं-कृषि-विभाग-के-सौतेला-व्यवहार-के-कारण-16-अगस्त-से-20-अगस्त-तक-काली-पट्टी-बांधकर-राज्यदेय-संख्या-1304-के-अनुसार-ही-कार्य-करना-सुनिश्चित-किया-है-उक्त-राज्यदेय-के-आलोक-में-सभी-किसान-सलाहकार-एप-आधारित-कार्य-नहीं-करने-का-निर्णय-लिया-है।
सिंहेश्वर-प्रखंड-के-सभी-किसान-सलाहकारों-ने-सरकार-एवं-कृषि-विभाग-के-सौतेला-व्यवहार-के-कारण-16-अगस्त-से-20-अगस्त-तक-काली-पट्टी-बांधकर-राज्यदेय-संख्या-1304-के-अनुसार-ही-कार्य-करना-सुनिश्चित-किया-है-उक्त-राज्यदेय-के-आलोक-में-सभी-किसान-सलाहकार-एप-आधारित-कार्य-नहीं-करने-का-निर्णय-लिया-है।
  • सवतंत्र प्रभात (जिला ब्यूरो)

मधेपुरा, (सद्दाम हुसैन)। सिंहेश्वर प्रखंड के सभी किसान सलाहकारों ने सरकार एवं कृषि विभाग के सौतेला व्यवहार के कारण 16 अगस्त से 20 अगस्त तक काली पट्टी बांधकर राज्यदेय संख्या-1304 के अनुसार ही कार्य करना सुनिश्चित किया है।

उक्त राज्यदेय के आलोक में सभी किसान सलाहकार एप आधारित कार्य नहीं करने का निर्णय लिया है। प्रखंड अध्यक्ष शिव शंकर कुमार सुमन ने बताया कि राज्य अध्यक्ष के निर्देश के आलोक में हम सभी किसान सलाहकार 20 अगस्त तक केवल कृषकों के बीच प्रचार-प्रसार के कार्य का ही सम्पादन करेंगें।

एप आधारित कार्य जैसे कृषि, जल, फसल सहायता योजना आदि कार्य नहीं करने का निर्णय लिया है। जब तक सरकार और विभाग हमारी मांगे को मान नही लेती हैं। जरूरत पड़ने पर 21 अगस्त से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर भी जा सकते है।

बताते चलें कि किसान सलाहकारों की ‌प्रमुख मांग जैसे कि किसान सलाहकार को संविदा कर्मी मानते हुए सम्मानजनक मानदेय दिया जाय। भविष्यनिधि का लाभ दिया जाय। किसान सलाहकार को कृषि कर्मी का दर्जा दिया जाय। कोरोना काल में कार्य करने पर बीमा से आच्छादित किया जाय।

इस हडताल में किसान सलाहकार पंकज कुमार, मनोज कुमार, पिंटू कुमार, प्रदीप कुमार, अश्विन पाठक, प्रियंका कुमारी, प्रवीण कुमार राय, एवं राणा संग्राम सिंह उपस्थित थे।