नियति हॉस्पिटल के कर्मचारियों ने सैलरी न मिलने से व्यक्त किया आक्रोश

नियति-हॉस्पिटल-के-कर्मचारियों-ने-सैलरी-न-मिलने-से-व्यक्त-किया-आक्रोश

स्वतंत्र प्रभात

आक्रोशित कर्मचारियों ने नियति प्रशासन के खिलाफ डिप्टी कलेक्टर को दिया ज्ञापन -नियति प्रशासन और निदेशक के खिलाफ की नारेबाजी 

वृंदावन राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित नयति अस्पताल एक बार फिर विवादों की सुर्खियों में आया है। इस बार विवाद का कारण कोई और नहीं नियति अस्पताल में कार्यरत रेडियोलॉजी टेक्नोलॉजिस्ट व मेडिकल टाइपिस्ट विभाग के कर्मचारियों का लंबे समय से भुगतान न होना है। वेतन न मिलने के कारण इन कर्मचारियों में नियति प्रशासन और निदेशक के प्रति भारी आक्रोश व्याप्त है, जिसके चलते कई दिनों से विवाद चल रहा है। आक्रोशित कर्मचारियों द्वारा मंगलवार को जहां नियति अस्पताल में प्रदर्शन किया गया वहीं अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ डीएम को ज्ञापन देने उनके कार्यालय पर पहुंचे जहां ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर राजीव उपाध्याय को सौंपा गया।

इन कर्मचारियों का आरोप उनका 4 से 6 महीने के वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। जिससे उन्हें अपना और अपने परिवार का पालन पोषण करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है जबकि सभी कर्मचारियों ने पुरे कोरोना काल में हमने अपनी सेवाए दी हैं। साथ ही आरोप है कि उनकी बिना जानकारी के ही रेडियोलॉजी विभाग को पूरा आउटसोर्सिंग कर दिया गया है।

अब नियति प्रशासन चाहता हैं की हमको स्टॉफ की सैलरी न देनी पड़े, ये लोग छोड़कर चले जाए लेकिन स्टॉफ के कर्मचारियों का कहना था की हम अपने हक का दिन-रात काम करने का वेतन कभी छोड़ने वाले नहीं हैं इसके लिए हमें चाहे न्यायालय की शरण क्यों न लेनी पड़े। इस दौरान रवि दत्त शर्मा,बंटी कुमार शर्मा, गुरवेश कुमारशाक्य, कृष्ण किशोर शर्मा, प्रेम राज शर्मा, शिप्रा यादव, आलोक कुमार, प्रणव यादव, विक्रम गौतम, अनिल कुमार, रविंद्र सिंह, राजेश कुमार सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।