मेडिकल कॉलेज में खुलेगा इमर्जेंसी मेडिसिन विभाग 

मेडिकल कॉलेज में खुलेगा इमर्जेंसी मेडिसिन विभाग   

‌स्वतन्त्र प्रभात।
‌                           

प्रयागराज। ‌मोतीलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में इमर्जेंसी मेडिसिन विभाग खुलेगा। इसके लिए कॉलेज प्रशासन ने सरकार को प्रस्ताव भेज दिया है। 2022-23 सत्र से एमबीबीएस में दाखिला लेने वाले छात्र-छात्राओं को इमर्जेंसी मेडिसिन की भी पढ़ाई करनी होगी। राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) ने अगले सत्र 2022-23 से सभी मेडिकल कॉलेजों में इस नए विभाग को अनिवार्य करते हुए 19 अक्तूबर 2020 को ही अधिसूचना जारी कर दी थी ताकि कॉलेज स्तर से तैयारियां पूरी हो सके। इस विभाग के लिए मेडिकल कॉलेज से संबद्ध स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में 30 बेड की अलग से सुविधा बढ़ाई जाएगी। इनमें से 6 बेड का इंटेसिव केयर यूनिट (आईसीयू) भी होगा। एक ऑपरेशन थियेटर और एक प्लास्टर रूम भी बनाया जाएगा।

वर्तमान में एसआरएन में 1400 बेड और ट्रामा सेंटर की सुविधा है। इमर्जेंसी मेडिसिन की पढ़ाई कराने के लिए एक एक प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति होगी। इसके अलावा 99 सीनियर व जूनियर रेजीडेंट भी रखे जाएंगे।

‌मेडिकल कॉलेज में वर्तमान में 12 विभाग हैं। इमर्जेंसी मेडिसिन विभाग बनने के बाद विभागों की संख्या बढ़कर 13 हो जाएगी। प्रमुख विभागों में मेडिसिन, सर्जरी, आर्थो, स्त्री एवं प्रसूती रोग, पल्मोनरी मेडिसिन, बाल रोग, नेत्र रोग, स्किन, पैथोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, बायोकेमेस्ट्री, एनाटॉमी, ईएनटी, दंत रोग आदि हैं।
2022-23 सत्र से नया इमर्जेंसी मेडिसिन विभाग स्थापित किया जाना है। इसके लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। पदसृजन का भी अनुरोध किया है।.