बिजली का हाहाकार, अंधेरे में डूबा जयपुर बाजार

नक्सल-प्रभावित-क्षेत्र-कटोरिया-प्रखंड-का-जयपुर-बाजार-अंधेरे-में-डूब-रहा-है-शहर-से-लेकर-गांव-तक-की-बिजली-व्यवस्था-चरमरा-गई-है।
नक्सल-प्रभावित-क्षेत्र-कटोरिया-प्रखंड-का-जयपुर-बाजार-अंधेरे-में-डूब-रहा-है-शहर-से-लेकर-गांव-तक-की-बिजली-व्यवस्था-चरमरा-गई-है।

स्वतंत्र प्रभात

(अनुप कुमार)

कटोरिया। बांका जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र कटोरिया प्रखंड का जयपुर बाजार अंधेरे में डूब रहा है। शहर से लेकर गांव तक की बिजली व्यवस्था चरमरा गई है। शुक्रवार को सुबह से शाम तक कुल दस घंटे बिजली कटी रही।

उमस भरी गर्मी के बीच दिनभर लोग छटपटाते रहे दस बजे रात से सुबह तक बिजली नहीं मिल पा रही हैै। बिजली अधिकारियों की लापरवाही से नक्सल प्रभावित क्षेत्र जयपुर अंधेरे के आगोश में है।

भले ही अगले कुछ दिनों में जिले की विद्युत आपूर्ति सुधार की बात विभाग द्वारा की जा रही हो पर फिलहाल बिजली संकट से बांका जिले के जयपुर बाजार में हाहाकार मचा है। सावन का महीना समाप्त होने को है।

बाजार व सड़कों पर भीड़-भाड़ लॉक-डाउन के कारण नगण्य है। लेकिन रात होते ही पूरे जयपुर बाजार में अजीब खामोशी छाने लगी है, घुप्प अंधेरे में लोगों की जिन्दगी तबाह होने लगी है।

बिजली की बदतर स्थिति का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि लोगों के घर में दैनिक काम भी प्रभावित होने लगे हैं। महीनों से बिजली की आंख- मिचोली से लोगों को बड़ी परेशानी होने लगी है।

बिजली गुल रहने से जहां लोगों पानी की टंकी में पानी भी नहीं जा रहा है वहीं रोजमर्रा के कामों के से जुडे घरों की साफ-सफाई करने तथा नहाने के लिए लोगों को चापाकल का सहारा लेना पड़ रहा है। कई घरों में तो पानी नहीं रहने के कारण खाना तक नहीं बन पा रहा है।