देव स्थलों पर तोड़फोड़ के मामले में आलापुर एसडीएम व क्षेत्राधिकारी ने थानाध्यक्ष के साथ घटनास्थल का लिया जायजा

देव स्थलों पर तोड़फोड़ के मामले में आलापुर एसडीएम व क्षेत्राधिकारी ने थानाध्यक्ष के साथ घटनास्थल का लिया जायजा


रिपोर्ट स्वतंत्र प्रभात टीम


अम्बेडकर नगर आलापुर। देवी और देव स्थलों पर तोड़फोड़ के जरिए विक्षिप्त युवक द्वारा किए गए उत्पात मामले की गंभीरता को लेकर आलापुर एसडीएम धीरेंद्र श्रीवास्तव व क्षेत्राधिकारी जगदीश लाल टम्टा ने थानाध्यक्ष नागेंद्र सरोज के साथ घटनास्थल का जायजा लिया।

अधिकारी द्वय की गहन पूछताछ में यह बात स्पष्ट रूप से सामने आई कि सहसा गांव के दलित बस्ती का आरोपी मुकेश उर्फ अंजू पुत्र रामआशीष की मानसिक हालत बिल्कुल भी ठीक नहीं थी।ऐसे में उसे घटनाक्रम के दौरान ही ग्रामीणों ने पकड़कर सूचना पर पहुंची पुलिस के हवाले कर दिया जिसके बाद आरोपी को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया

गया।गौरतलब है कि जहांँगीरगंज थाना क्षेत्र के सिंहपुर गांव में स्थित पोखरे के निकट स्थापित शिव मंदिर व उसमें रहे शिवलिंग को मंगलवार की भोर में ही आरोपी मुकेश ने क्षतिग्रस्त कर दिया था उसी के ठीक तुरंत बाद सहसा गांव पहुंचकर आरोपी यहां के प्रधान देवब्रत मिश्र के आवासीय मकान के सामने स्थित काली मंदिर की मूर्ति क्षतिग्रस्त करते हुए यहां से कुछ दूर पर रहे डीह स्थान को भी क्षतिग्रस्त करने लगा।

जिसके दौरान आरोपी को ग्रामीणों ने काफी मशक्कत के बाद पकड़ लिया।ग्रामीणों के अनुसार मुकेश की दिमागी हालत ठीक नहीं थी वह बीती रात गांव में घूम घूम कर पेड़ों की पत्तियां तोड़ कर खा रहा था और आने जाने वाले लोगों को अपने अपशब्द के जरिए अपमानित भी कर रहा था।इधर क्षतिग्रस्त हुए देव स्थलों को पुलिस प्रशासन द्वारा मरम्मत करा दिया गया है।