अमेरिका में मतों की गिनती अभी भी जारी, जो बाइडेन और ट्रंप दोनों ने किए जीत के दावे

अमेरिका में मतों की गिनती अभी भी जारी, जो बाइडेन और ट्रंप दोनों ने किए जीत के दावे

अमेरिकी चुनाव नतीजों को लेकर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं। लेकिन इस बीच बाइडेन बहुमत के करीब दिखाई दे रहे हैं तो वहीं गिनती को लेकर कई राज्यों में दोनों पक्ष क़ानूनी दरवाज़ा खटखटा रहे हैं।

अमेरिका में राष्ट्रपति चनाव के लिए मतदान 3 नवंबर को हुआ था पर मतों की गिनती का काम अभी भी जारी है लेकिन इस बीच विवाद भी बढ़ रहा है जिसका कारण हैं  डाक के ज़रिए आ रहे मतपत्र .6 राज्यों में अभी निर्णायक नतीजे आने बाकी हैं जिनमे इलेक्टोरल कॉलेज की 71 सीटें दाँव पर हैं, इनमे से जॉर्जिया और उत्तरी कैरोलाइना में 95% वोटों की गिनती हो चुकी है.

इन सबके बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जारी है…ट्रम्प खेमे की ओर से पेंसिल्वेनिया, विस्कॉन्सिन, जॉर्जिया और मिशिगन में मतगणना में धोखाधड़ी का दावा किया जा रहा है…उन्होंने इन राज्यों में वोटों की गिनती पर रोक लगाने के लिए कोर्ट का रुख किया है।

इस बीच जो बाईडेन ने सधे हुए शब्दों में अपना बयान दिया और उम्मीद जताई कि मतों की गिनती खत्म होने पर जीत उन्ही की होगी

राष्ट्रपति चुनावों के नतीजों की अनिश्चितता के बीच अमेरिका के विभिन्न शहरों में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए… डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टियों के समर्थक सड़कों पर उतर आए.

डेट्रायट में चुनाव अधिकारियों द्वारा कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए क्षमता प्रतिबंधों का हवाला देते हुए लगभग 30 पर्यवेक्षकों को, जिनमें ज्यादातर रिपब्लिकन थे, वोट-गिनती केन्द्र में प्रवेश करने से रोक दिया गया … हालात संभालने के लिए पुलिस को बुलाना पड़ा.. ताकि वोटों की गिनती निर्विरोध जारी रहे, इसे लेकर कई शहरों में कार्यकर्ताओं ने रैलीयां निकाली जिनमें डरहम, मिनियापोलिस और पोर्टलैंड शामिल हैं, जहां प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ हाथापाई की भी खबरें हैं.

अमेरिका के 44 राज्यों में पोस्ट के ज़रिए और 3 नवंबर से पहले किए गए मतदान को लेकर 300 मामले अदालतों में दायर किए गए हैं, वहीं डोनाल्ड ट्रम्प ने भी सुप्रीम कोर्ट का रुख करने की धमकी दी है …ऐसे में ये प्रबल संभावना दिख रही है कि चुनावी नतीजों में कोर्ट का रोल अहम हो सकता है.

 फिलहाल ये स्पष्ट है कि डोनाल्ड ट्रम्प और रिपब्लिकन खेमा बिना किसी लड़ाई पीछे हटने वाले नहीं हैं और इससे सबकी चिंता बढ़ रही है।

रिपब्लिकन खेमे द्वारा अदालत का रुख करने और विस्कॉन्सिन में मतों की दोबारा गिनती की मांग से ये स्पष्ट है कि फिलहाल ये विवाद हल होता नज़र नहीं आ रहा.. और डाक मतों का आना  और गिनती का काम भी जारी है, ऐसे में मतगणना कब तक चलेगी, ये देखना अभी बाकी है, यानी अमेरिकी चुनावों के परिणामों को लेकर….पिक्चर अभी बाकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here