चुप्पी तोड़ो स्वस्थ रहो अभियान के तहत युवा मैत्री केंद्र में किया गया परामर्श सत्र आयोजन

स्वतंत्र प्रभात पाकुड़ संवाददाता

जिला जल एवं स्वच्छता समिति पाकुड़ के अंतर्गत चुप्पी तोड़ो स्वस्थ रहो कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें सदर अस्पताल सोना जोड़ी पाकुड़ युवा मैत्री केंद्र सह एसटीआई /आरटीआई के परामर्शी डॉ विभाषचंद्र झा के द्वारा उपस्थित ग्रामीणों को बताया गया कि लड़कियों में किशोरावस्था के समय शरीर के भीतर प्रजनन अंगों का विकास एवं हार्मोन प्रक्रिया गतिमान होती है इसके कारण गुप्तांग से रक्त स्राव होता है जिसे महीना या महावारी कहते हैं

यह सामान्य प्रक्रिया है लड़कियों में 9 से 14 वर्ष की आयु में आता है इस समय बिल्कुल भी घबराए नहीं अपनी मां या बड़ी बहन से महीने से संबंधित सवाल पूछे ओर सलाह लें और बेझिझक खुलकर बात करें जिसमें आप शिक्षक -शिक्षिकाएं ,एएनएम दीदी सेविका दीदी ,सहिया दीदी से सलाह ले सकती हैं वही उन दिनों होने वाले पेट दर्द का मुख्य कारण है कि महीने के दौरान गर्भाशय के अंदर की पोषण परत (एंडोमेट्रियम) टूटती है एवं रक्त स्राव के रूप में बहती है

इसे निकालने के लिए गर्भाशय का संकुचन होता है जिसके कारण पेट दर्द होता है यह एक सामान्य प्रक्रिया है इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है इसअवस्था मेंस्वच्छता का पूरा ख्याल रखना चाहिए गुनगुने पानी से स्नान नियमित तौर पर करना चाहिए व्यायाम तथा चलते-फिरते रहना चाहिए अधिक दर्द होने पर गर्म सिकाई कर सकते हैं दर्द बहुत ज्यादा हो और ज्यादा समय तक रहे तो एमबीबीएस डॉक्टर से अवश्य दिखाना चाहिए वही मौके पर स्वच्छता विभाग के जिला परामर्शी आईईसी/एचआरडी मोo इमरान आलम के द्वारा बताया गया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) पाकुड़ के अंतर्गत महावारी स्वच्छता प्रबंधन को लेकर “चुप्पी तोड़ो स्वस्थ रहो अभियान “चलाई जा रही है

जिसमें विशेष तौर पर किशोर किशोरियों एवं महिलाओं के बीच स्वच्छता को बढ़ावा देना है और उनके स्वास्थ्य को बेहतर बनाना है ग्रामीण क्षेत्र में इस संबंधित कई आम धारणाएं प्रचलित है इसलिए सरकार के द्वारा उठाए गए इस कदम से ग्रामीण महिलाओं को भी अपने स्वास्थ्य एवं साफ सफाई से महत्वपूर्ण जानकारी देने का एक कार्य किया जा रहा है जिसमें स्वास्थ्य विभाग ,शिक्षा विभाग एवं समाज कल्याण के द्वारा भी संयुक्त रुप से ग्रामीण स्तर पर कई कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहे हैं जरूरत है

माहवारी की भ्रांतियां को दूर करने के लिए समाज के सभी वर्गों को इस में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने की इस मौके पर परिवार नियोजन परामर्शी श्रीमती चंपा बनर्जी सुशील कुमार शांति लता हसदा शिवनारायण यादव तैमूर अंसारी मुख्य रूप से उपस्थित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here