बिना बिजली कनेक्शन के ही भेज दिया बिल मनरेगा मजदूर ने लगाई एसडीएम से गुहार

प्रभारी-निरीक्षक-हुए-क्वारन्टाइन

स्वतंत्र प्रभात भाटपाररानी, देवरिया।

भाटपाररानी तहसील क्षेत्र के चौरंगी चक गांव निवासी एक मनरेगा मजदूर के नाम से बिना विद्युत कनेक्शन के ही बिल भेज दिया गया है।इसे लेकर मनरेगा मजदूर परेशान है।वहीं यह प्रकरण गांव में चर्चा का विषय बना हुआ है।

बिल आने से चिंतित मनरेगा मजदूर ने विद्युत विभाग सहित एसडीएम को शिकायती पत्र सौंपकर न्याय की गुहार लगाई है।चौरंगी चक गांव निवासी गंगा सागर गुप्ता पुत्र स्व० गेना साह का कहना है कि हम एक मनरेगा मजदूर हैं।

मजदूरी कर के हम अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं।लॉक डाउन के दौरान काम नहीं चलने के कारण आर्थिक स्थिति अत्यंत खराब हो गई है।मजदूर का कहना है कि आज तक मैंने कभी बिजली की कनेक्शन के लिए आवेदन भी नहीं किया है।इसके बावजूद भी तीन हजार छत्तीस रुपये का बिल आ गया है।

इसे लेकर हम बहुत परेशान हैं।मजदूर ने रिपोर्टर मकसूद अहमद भोपतपुरी को बताया कि  साहब! जब हमरा लगे खाए खातिर सब्जी खरीदे लेके पईसा नइखे, त हम कहां से ई बिजली के बिल भरब।एके लेके हम भारी टेंशन में बानी।

एसडीएम साहब से हमरा न्याय के पूरा-पूरा भरोसा बा।वहीं गांव निवासी व्यास तिवारी,जयप्रकाश गुप्ता आदि ने बताया कि वाकई गंगा सागर गुप्ता की हालत दयनीय है।बिना कनेक्शन का बिल भेजना मजदूर के साथ अन्याय है।इससे विद्युत विभाग के कार्य शैली पर भी सवालिया निशान लग रहा है।

इस बाबत पूछे जाने पर उपजिलाधिकारी भाटपाररानी सौरभ कुमार सिंह ने कहा कि शिकायती पत्र मिला है।आवश्यक कार्रवाई के लिए विद्युत विभाग को लिखा जाएगा।पीड़ित मनरेगा मजदूर के साथ नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी।पीड़ितों को न्याय दिलाना हमारी प्राथमिकता है।